डीएम डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने क्षेत्र पंचायत डुंडा की बैठक में किया प्रतिभाग, पंचायत-प्रतिनिधियों कों अपना मोबाईल नंबर शेयर कर विकास कार्यों के फीडबैक से संबंधित वीडियो उपलब्ध कराने का किया आग्रह, अधिकारियों को दिए यह निर्देश

डीएम डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने क्षेत्र पंचायत डुंडा की बैठक में किया प्रतिभाग, पंचायत-प्रतिनिधियों कों अपना मोबाईल नंबर शेयर कर विकास कार्यों के फीडबैक से संबंधित वीडियो उपलब्ध कराने का किया आग्रह, अधिकारियों को दिए यह निर्देश
उत्तरकाशी : क्षेत्र पंचायत डुंडा की बैठक में क्षेत्र के विकास के साथ ही जन समस्याओं के निस्तारण को लेकर पर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के मध्य सौहार्दपूर्ण माहौल में रचनात्मक चर्चा हुई। इस मौके पर जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने पंचायत-प्रतिनिधियों कों अपना मोबाईल नंबर शेयर करते हुए से विकास कार्यों के फीडबैक से संबंधित वीडियो उपलब्ध कराने का आग्रह किया। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने अधिकारियों को सदन में उठाऐ गए मामलों पर मौके पर जाकर योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर तत्काल समाधान करने के निर्देश दिए।
ब्लॉक प्रमुख शैलेन्द्र कोहली की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में जिलाधिकारी डॉ मेहरबान सिंह बिष्ट तथा मुख्य विकास अधिकारी जय किशन सहित तमाम विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियो ने भी भाग लिया। जल जीवन मिशन पर चर्चा के दौरान अधिशासी अभियंता पेयजल निगम ने बताया कि निगम की 27 योजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। सदन में सदस्यों ने लोदाड़ा, न्यूगॉंव और गढथाती आदि गांवों की योजनाओं के अपूर्ण होने व पानी की नियमित आपूर्ति न होने का मामला उठाया और गाजणा क्षेत्र में तैनात अवर अभियंता के लंबे समय से अनुपस्थित रहने की शिकायत की। जिलाधिकारी ने कहा कि सदन में इंगित समस्याओं के निस्तारण के लिए जल निगम के अधिशासी अभियंता से लेकर अवर अभियंता स्तर तक के कार्मिक एक सप्ताह के भीतर स्थलीय निरीक्षण करें और पंचायत सदस्यों को साथ लेकर योजनाओं का सही क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी अभियंता की अनुपस्थिति के संबंध में मुख्य विकास अधिकारी को एक सप्ताह में जॉच कर रिपोर्ट देने के निर्देश देते हुए कहा कि यह शिकायत सही पाए जाने पर संबंधित अभियंता के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। 
जिलाधिकारी ने पेयजल योजनाओं के बारे में संबंधित अभियंताओं को पूरी जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश देते हुए कहा कि हर घर तक पेयजल की आपूर्ति करने के लिए जल जीवन मिशन एक अत्यंत महात्वाकांक्षी व अभूतपूर्व योजना है। जिसमें ग्राम पंचायतों की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। लिहाजा पंचायत प्रतिनिधियों को अपनी जिम्मेदारी का सही तरह से निर्वहन कर योजना निर्माण के हर चरण पर बारीकी से नजर रखें। जिलाधिकारी ने कहा कि योजनाओं को पूरी तरह से देख-परख कर ही पंचायतें कार्य पूरा होने का प्रमाण पत्र जारी करें।  बैठक में अधिशासी अभियंता जल संस्थान ने बताया कि जल जीवन मिशन के तहत संस्थान के अधीन स्वीकृत 53 योजनाओं में से 13 पर कार्य पूरा हो चुका है। कुछ सदस्यों के द्वारा पेयजल योजनाओं पर गर्मियों में स्रोत में पानी सूखने या कम होने का मामला उठाए जाने पर जिलाधिकारी ने कहा कि पेयजल की सुचारू आपूर्ति के लिए वैकल्पिक स्रोतां की भी पड़ताल की जाय।
जिलाधिकारी ने सदन में ही सभी पंचायत सदस्यों को अपना मोबाईल नंबर शेयर करते हुए कहा कि योजनाओं के संबंध में कोई शिकायत या समस्या से संबंधित वीडियो उन्हें व संबंधित विभाग के अधिकारियों को शेयर किए जांय। अधिकारियों को भी जिलाधिकारी ने अपना मोबाईल नंबर पंचायत प्रतिनिधियों को शेयर करने के निर्देश दिए।  जिलाधिकारी ने जल जीवन मिशन सहित अन्य योजनाओं में वन भूमि अंतरण से संबंधित प्रस्ताव समय से तैयार कर निस्तारित कराने के निर्देश देते हुए कहा कि इस संबंध में आने वाली समस्याओं को लेकर संबंधित विभागों की जिला स्तर पर अलग से बैठक कर जिला स्तर की स्वीकृतियों को यथाशीघ्र निर्गत कराने की कार्रवाई की जाएगी। 
सड़क सुविधाओं पर चर्चा के दौरान सदन में  गेंवला प्राथमिक विद्यालय के पैदल मार्ग को सड़क निर्माण के कारण क्षतिग्रस्त होने का मामला उठाया गया। जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को इस कार्य का प्राथमिकता से जिला योजना या अन्य किसी मद में शामिल किए जाने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत उडरी गांव के सड़क निर्माण से चार साल पहले मट्टी-छमाली नहर का लगभग 1 किमी हिस्सा क्षतिग्रस्त होने के मामले में जिलाधिकारी ने इस हिस्से में प्लास्टिक पाईप या सड़क के साथ ही भूमिगत नहर निर्माण जैसे वैकल्पिक उपायो के जरिए सिंचाई की व्यवस्था किए जाने हेतु निर्देशित करते हुए कहा कि कृषि विभाग के जरिए सिंचाई की समस्याग्रस्त क्षेत्रों में एचडीपीई पाईप का वितरण की व्यवस्था की गई है। 
सदन में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र धौंतरी में संविदा पर तैनात आयुर्वेदिक चिकित्सक के अनुपस्थित रहने का मामला उठाए जाने पर मुख्य विकास अधिकारी जय किशन ने तहसीलदार डुंडा को एक सप्ताह में जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। राइका बड़ेथ में खेल मैदान पर  विद्यालय भवन बनाए जाने पर कतिपय सदस्यों द्वारा आपत्ति जताए जाने पर मुख्य विकास अधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को मौके पर जाकर वस्तुस्थिति का निरीक्षण करते हुए छात्र हित में उचित निर्णय लेने की हिदायत दी।
बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य, लोनिवि, ग्रामीण निर्माण विभाग, विद्युत, पंचायतीराज विभाग, कृषि, उद्यान, उद्योग, ग्राम्य विकास, खेल, पर्यटन, समाज कल्याण, पशुपालन, युवा कल्याण, स्वजल, खाद्य आपूर्ति, बाल विकास आदि विभागों की योजनाओं पर चर्चा की गई। बैठक में सदस्यों ने सदन में व्यवस्थित रूप से रचनात्मक चर्चा होने तथा अनेक मामलों पर तत्काल कार्रवाई होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए ब्लॉक की छः सड़कों को परिवहन विभाग द्वारा यातायात संचालन हेतु स्वीकृति दिए जाने पर आभार व्यक्त किया गया।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए ब्लॉक प्रमुख शैलेंद्र कोहली ने सदस्यों के द्वारा बैठक में किए गए रचनात्मक विचार-विमर्श के लिए आभार व्यक्त करते हुए अधिकारियों से सदन के प्रस्तावों पर तत्परता से सकारात्मक कार्रवाई किए जाने की अपेक्षा की।
बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीएस रावत, जिला विकास अधिकारी रमेश चंद्र, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ. एसएस रावत, मुख्य कृषि अधिकारी जेपी तिवारी, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी चेतना अरोड़ा,  खंड विकास अधिकारी राकेश बिष्ट, तहसीलदार रीनू सैनी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ.सतीश चंद्र जोशी, मुख्य शिक्षा आधिकारी एनएस बिष्ट, जिला शिक्षा अधिकारी अमित कोटियाल,जिला पंचायतराज अधिकारी  सीपी सुयाल, अधिशासी अभियंता पेयजल निगम मधुकांत नौटियाल, अधिशासी अभियंता जल संस्थान एलसी रमोला, अधिशासी अभियंता लोनिवि रजनीश कुमार सैनी, अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवाई आशीष भट्ट, अधिशासी अभियंता सिंचाई केएस रावत, अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई भरत राम, अधिशासी अभियंता यूपीसीएल मनोज गुसाईं,  एआरटीओ जितेंद्र कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुधीर जोशी, जिला क्रीड़ा अधिकारी बबीता बिष्ट, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास यशोदा बिष्ट, अधिशासी अभियंता ग्रामीण निर्माण विभाग डीएस बागड़ी, जिला युवा कल्याण अधिकारी विजयप्रताप भंडारी, साहसिक खेल अधिकारी मोहम्मद अली खान सहित अन्य अधिकारी गण भी उपस्थित रहे।