खबर का असर : गोपेश्वर-चमोली मोटर मार्ग पर बंद नालियों को खोलने का काम शुरू

खबर का असर : गोपेश्वर-चमोली मोटर मार्ग पर बंद नालियों को खोलने का काम शुरू

गोपेश्वर (चमोली)। गोपेश्वर-चमोली मोटर मार्ग पर सड़क के किनारे बनी बरसाती पानी की निकासी के लिए नालियां, जो विगत दो वर्ष से कई स्थानों पर मलवा आने से बंद पड़ी थी। आपके लोक प्रिय न्यूज पोर्टल ने इसको लेकर बुधवार को ‘मानसूनः गोपेश्वर-चमोली मोटर मार्ग पर सड़क के किनारे की बंद नालियों को खोलने की मांग‘ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद गुरूवार को इन बंद नालियों को खोलने का काम शुरू कर दिया है। हालांकि विभाग अभी भी खानापूर्ति में जुटा हुआ है।

गौरतलब है कि गोपेश्वर-चमोली मोटर मार्ग पर कई स्थानों पर पिछली दो बरसात में कई स्थानों पर सड़क सुरक्षा के लिए बनी दीवारें ढह गई थी। जिनका मलवा नालियों में गिरा हुआ था। जिस कारण बीत वर्ष बरसात में कई घरों में पानी घूस गया था। इस बार भी मानसून शुरू हो गया है लेकिन इन बंद नालियों को खोलने की कोई सुध नहीं ली जा रही थी जिसके बाद बुधवार को खबर प्रकाशन के बाद प्रशासन और एनएच ने इसका संज्ञान लेते हुए गुरूवार को नालियों से मलवा हटाने का काम शुरू तो कर दिया है। लेकिन जिस तरह से नालियों की पूरी तरह से सफाई की जानी थी वह नहीं की जा रही है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य उषा रावत ने प्रशासन और एनएच से मांग की है कि नालियों से मलवा हटाकर सुरक्षा दीवारों की भी मरम्मत की जाए ताकि बरसात में फिर से मलवा नालियों में न भरने पाये।