कपकोट घाटी में पैराग्लाइडिंग के गुर सिख रहे युवा, स्वरोजगार की दिशा में सराहनीय पहल

कपकोट घाटी में पैराग्लाइडिंग के गुर सिख रहे युवा, स्वरोजगार की दिशा में सराहनीय पहल

कपकोट/बागेश्वर :  कपकोट घाटी में पैराग्लाइडिंग के गुर सिख रहे युवा। स्वरोजगार की दिशा में सराहनीय पहल। बुधवार को पर्यटन विभाग के तत्वावधान में पांच दिवसीय पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण का शुभारंभ ब्लॉक प्रमुख गोविंद सिंह दानू ने किया। बतौर मुख्य अतिथि ब्लॉक प्रमुख गोविंद सिंह दानू ने प्रशिक्षण शिविर में प्रतिभाग कर रहें युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिले में साहसिक खेल के माध्यम से स्वरोजगार की दिशा में अपार सम्भावनाएं है। पांच दिन तक चलने वाले इस प्रशिक्षण में पैराग्लाइडिंग की बारीकियों को सीखे

उन्होंने कहा कि विगत वर्ष जालेख कपकोट में आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय पैराग्लाईडिंग एक्यूरेसी प्रतियोगिता से क्षेत्र को राष्ट्रीय पहचान मिली है। जिसका लाभ यहां के युवाओं को मिला है।  उन्होंने कहा कि कपकोट प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण है। साथ ही यहां साहसिक पर्यटन की भी अपार सम्भावनायें है। उन्होंने कहा यहॉ विख्यात पिण्डारी, कफनी, सुन्दरढुंगा जैसे सुंदर ग्लेशियर होने के साथ ही साहसिक पर्यटन में रॉक क्लाइम्बिंग, माउण्टेन साइकलिंग,पैराग्लाईडिंग,रिवर रॉफ्टिंग हेतु बेहतर स्थल है जो पर्यटकों को आकर्षित करते है। निश्चित ही साहसिक खेल में रुची रखने वाले युवाओं को यह बेहतर अवसर है।

जिला पर्यटन अधिकारी पीके गौतम ने कहा कि पांच दिवसीय पैराग्लाईडिंग प्रशिक्षण के बाद युवा स्वरोजगार अपनाकर आत्मनिर्भरता की ओर बढ़  सकते है। उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे सभी प्रतिभागियों से अनुशासन व मनोयोग के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करने की अपील की। उन्होंने कहा कि  26 छात्र/छात्राओं द्वारा पैराग्लाइडिंग का प्रशिक्षण लिया जा रहा है। इस दौरान जगदीश जोशी, हेमा तिवारी, मंजु परिहार आदि मौजूद थे।