श्री यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम में उमड़ रहा हैं आस्था का सैलाब, 09 लाख से अधिक श्रद्धालु कर चुके हैं अब तक दर्शन, बना एक नया कीर्तिमान

श्री यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम में उमड़ रहा हैं आस्था का सैलाब, 09 लाख से अधिक श्रद्धालु कर चुके हैं अब तक दर्शन, बना एक नया कीर्तिमान
उत्तरकाशी : गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम में आने वाले तीर्थयात्रियों का आंकड़ा आज नौ लाख की संख्या को पार कर गया है। इस बार चारधाम यात्रा शुरू हुए चवालीस दिन की अवधि बीत चुकी है और इस दौरान जिले के दोनों धामों मे पिछले साल की तुलना में लगभग सोलह प्रतिशत और वर्ष 2022 की तुलना में लगभग सैंतीस प्रतिशत अधिक यात्रियों का आगमन हुआ है। जिले में चारधाम यात्रा सुचारू और सुव्यवस्थित रूप से संचालित हो रही है। गत 10 मई को यमुनोत्री व गंगोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही इस बार चवालीस दिनों के भीतर रिकॉर्ड संख्या में कुल 901758 यात्रियों का आगमन हो चुका है। जबकि इन दोनों धामों में यात्रा के शुरूआती चवालीस दिनों के भीतर वर्ष 2022 में 659061 तथा वर्ष 2023 में 778257 तीर्थयात्री पहॅुंचे थे। 
इस बार यात्राकाल के शुरूआती चवालीस दिनों के भीतर यमुनोत्री में 442186 तथा गंगोत्री में 459572 श्रद्धालु आ चुके हैं। यमुनोत्री आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में इस बार वर्ष 2022 (285272) की तुलना में 55 प्रतिशत और वर्ष 2023 (368109) की तुलना में 20 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि आंकी गई है। इसी तरह गंगोत्री में भी इस बार श्रद्धालुओं की संख्या में वर्ष 2022 (373789) की तुलना में लगभग 23 प्रतिशत और वर्ष 2023 (410148) की तुलना में 12 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की गई है।  इन दोनों धामों में इस बार तीर्थयात्रियों को लेकर 80128 वाहनों का आगमन हुआ है जो वर्ष 2022 (56973) की तुलना में 40.64 प्रतिशत अधिक तथा वर्ष 2023 (71053) की तुलना में 12.77 प्रतिशत अधिक है।
रिकार्ड संख्या में श्रद्धालुओं की आवागमन के साथ ही जिले में चारधाम यात्रा सुव्यवस्थित और सुचारू रूप से संचालित हो रही है। जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट के निर्देशन में अधिकारियों की टीम निरंतर यात्रा व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरस्त बनाए रखने में जुटी है। इस बार अधिक संख्या में यात्रियों के आवागमन को देखते हुए प्रशासन के द्वारा यात्रा रूटों व पड़ावों पर अतिरिक्त यात्री सुविधाओं को जुटाया गया है। सफाई एवं प्रसाधन सुविधाओं पर भी विशेष ध्यान दिया गया है और प्रत्येक सेक्टर में इन व्यवस्थाओं पर निगरानी रखने के लिए अलग से अधिकारियों की तैनाती भी की गई है। जिससे यात्रा रूटों पर श्रद्धालुओं को काफी सहूलित मिली है और यात्रा अधिक सुविधाजनक हुई है।
चारधाम यात्रा को लेकर इस बार स्वास्थ्य सुविधाएं भी बढाई गई हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों, मेडीकल रिलीफ पोस्ट, स्वास्थ्य मित्रों व मोबाईल मेडीकल टीमों की तैनाती करने के साथ ही दोबाटा-बड़कोट एवं हीना में स्थापित स्क्रीनिंग सेंटर में नियमित रूप से तीर्थयात्रियों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है।  जिले में अभी तक 389997 तीर्थयात्रियों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है और 24437 यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है।