चमोली : कांडई पुल के पास शराब की दुकान खोले जाने का महिलाओं ने किया विरोध

चमोली : कांडई पुल के पास शराब की दुकान खोले जाने का महिलाओं ने किया विरोध

गोपेश्वर (चमोली)। चमोली जिले के विकास खंड नंदानगर घाट के शराब की दुकान की एक ब्रांच नंदप्रयाग-नंदानगर मोटर मार्ग के कांडई पुल के पास खोले जाने को लेकर ग्राम सभा बनाला और खड़गोली की महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने जिलाधिकारी से इस शराब की दुकान को बंद करने की मांग की है। कहा कि यदि शराब की दुकान बंद नहीं की जाती है तो उन्हें आंदोल के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

स्थानीय महिला शर्मिला देवी, उषा जोशी का कहना है कि एक ओर सरकार उत्तराखंड को नशा मुक्त करने की बात कर रही है दूसरी ओर हर दस किलोमीटर पर शराब की दुकानों की ब्रांच खोलने पर लगी है। जिससे युवा पीढ़ी को बर्वादी की कगार पर पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नंदप्रयाग से नंदानगर की दूरी 20 किलोमीटर है एक दुकान नंदप्रयाग में है और एक नंदानगर घाट में अब इसके बीच कांडई पुल में भी एक और शराब की दुकान खोली जा रही है। जो की सरासर गलत है। पहले ही पहाड़ की महिलाऐं गांवों में शराब विरोधी आंदोलन चला रही है उपर से सरकार हर दस किलोमीटर पर शराब की दुकान खोल कर पहाड़ के नौजवानों को नशे की ओर धकेल रही है।

उन्होंने कहा कि जहां पर शराब की दुकान खोली जा रही है उस स्थान से आम नागरिकों के साथ ही स्कूली बच्चों का भी आना जाना है। ऐसे में बच्चों के भविष्य पर क्या प्रभाव पड़ेगा अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि पूर्व में जब इस शराब की दुकान को खोलने की बात की जा रही थी तो उन्होंने प्रशासन और आबकारी विभाग को पत्र लिख कर इसका विरोध किया था लेकिन अचानक दुकान ही खोल दी है। उन्होंने तत्काल इस शराब की दुकान को हटाये जाने की मांग की है अन्यथा उन्हें आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा। इस मौके पर शर्मिला देवी, उषा जोशी, दर्शनी देवी, संगीता देवी, मोहन लाल, राकेश जोशी, तनुजा जोशी, रामेश्वरी, शांति देवी आदि मौजूद थे।