मंगलौर विधानसभा उप निर्वाचन के लिए मतगणना कार्मिकों को दिया गया प्रशिक्षण

मंगलौर विधानसभा उप निर्वाचन के लिए मतगणना कार्मिकों को दिया गया प्रशिक्षण
हरिद्वार :  मंगलौर विधानसभा उप निर्वाचन 2024 में मतगणना हेतु आवंटित कार्यों का निष्पक्षता तथा कुशलतापूर्वक संचालन कर, अपनी योग्यता एवं कार्य कुशलता का परिचय देना सुनिश्चित करें। यह निर्देश नोडल अधिकारी प्रशिक्षण केएन तिवारी ने विकास भवन सभागार में मतगणना कार्मिकों के प्रशिक्षण कार्यक्रम में बोलते हुए दिए।
उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया का अंतिम चरण मतगणना है जोकि अति महत्वपूर्ण कार्य है, इसलिए मतगणना कार्य को त्रुटि रहित संपन्न कराना सुनिश्चित करें ।  उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की शंका हो तो उसका समाधान प्रशिक्षण सत्र के दौरान ही कर लें ताकि मतगणना दिवस पर किसी भी प्रकार की समस्या अथवा त्रुटि न हो। यदि मतगणना के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या सामने आती है तो घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि एआरओ, आरओ की मदद लें, किसी भी स्तर पर स्वयं निर्णय न लें। उन्होंने कहा सीसीटीवी की नजर में मतगणना की जाए तथा प्रत्याशियों व उनके ऐजेन्टों को मतगणना मशीन (कंट्रोल युनिट) की सील, ऐडरस टैग, डिस्पले अवश्य दिखायें व मतगणना डाटा साझा करें ताकि मतगणना की पारदर्शिता बनी रहे।  मतगणना उपरान्त निर्धारित प्रपत्रों को भरेंगे तथा मतगणना उपरांत ईवीएम मशीनों को सुरक्षा बलों की सुरक्षा में व प्रत्याशियों , प्रतिनिधियों की मौजूदगी में सुरक्षित रखा जाये व सील किया जाए।
नोडल अधिकारी प्रशिक्षण केएन तिवारी तथा मास्टर ट्रेनर डॉ.संतोष चमोला ने बताया कि  जो एजेन्ट जिस विधानसभा व जिस टेबल के लिए तैनात किए जायेंगे वे उसी टेबल पर तैनात रहेंगे अनावश्यक इधर-उधर कतई नहीं जायेंगे। प्रशिक्षण में सभी कार्मिकों को सैद्धांतिक व व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया गया। कैरिंग केस व कंट्रोल युनिट की सील खोलने से पहले सभी टैग चैक करने व इसके आगे की प्रक्रिया ईवीएम से मतगणना तथा संबंधित जरूरी प्रपत्रों को भरने संबंधी प्रशिक्षण देने के साथ ही वीवीपैट मशीन से पर्चियों की गणना, संभावित एरर एवम निस्तारण आदि का प्रशिक्षण भी दिया गया। कुल 59 कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया। एनआईसी रूम में मतदान कार्मिकों तृतीय रेंडमाइजेशन तथा माइक्रो ऑब्जर्वर का द्वितीय रेंडमाइजेशन सामान्य ऑब्जर्वर तथा आरओ की उपस्थिति में किया गया।