बीकेटीसी कर्मी छपेल सिंह बिष्ट “छपेल दा”  की सेवानिवृत्ति पर बदरीनाथ धाम में  विदाई सम्मान समारोह आयोजित, श्री नृसिंह मंदिर कार्यालय में सहायक सागर जोशी भी हुए सेवानिवृत्त 

बीकेटीसी कर्मी छपेल सिंह बिष्ट “छपेल दा”  की सेवानिवृत्ति पर बदरीनाथ धाम में  विदाई सम्मान समारोह आयोजित, श्री नृसिंह मंदिर कार्यालय में सहायक सागर जोशी भी हुए सेवानिवृत्त 

श्री बदरीनाथ धाम :  श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति के कार्यालय सहायक छपेल सिंह बिष्ट‌ (छपेल दा) साठ वर्ष की अधिवर्षता आयु पूरी करने के बाद आज सेवानिवृत्त हो गये।  इस अवसर‌ पर‌  बदरीनाथ धाम में मंदिर कर्मचारियों अधिकारियों‌ ने  उनका फूलमालाओं से स्वागत कर विदाई दी तथा  दीर्घायु जीवन की कामना की, उन्हें भगवान बदरीविशाल का स्मृति चिह्न भेंट किया उनके पारिवारिक जनों को भी सम्मानित किया गया।

विनम्र स्वभाव के छपेल दा कर्मचारियों के बीच चर्चित  तथा लोकप्रिय  रहे। हमेशा बदरीनाथ धाम में रह कर भगवान बदरीविशाल की सेवा में मनोयोग से संलग्न रहे। छपेल दा केवल साक्षर थे लेकिन पैड़ पौधे लगाने, बागवानी, तथा पाक कला में महारत रही। उनके द्वारा विशेष प्रकार का हलवा प्रसाद बनाया जाता था जिसको मंदिर समिति के पुराने अधिकारी कर्मचारी वखूबी जानते है कई तीर्थयात्री उनसे हलवा प्रसाद बनाने हेतु भी कहते थे।छपेल दा उम्र में अब बुजुर्ग हो गये है  लेकिन वह बेहद विनम्र है  वह अपने से छोटों के पांव छूकर अभिवादन करते दिख सकते है।
मंदिर समिति प्रभारी अधिकारी बदरीनाथ धाम /  मुख्य प्रशासनिक अधिकारी गिरीश‌ चौहान ने बदरीनाथ धाम से  बताया कि छपेल दा ऐसे कर्मचारी थे उन्हें जो भी कार्य दिया गया उन्होंने पूरे मनोयोग से किया उनकी सेवा निवृत्ति  पर सभी कर्मचारी उनको शुभकामनाएं  दे रहे है।
बीकेटीसी मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि छपेल दा बदरीनाथ मंदिर  में तुलसी माला स्टोर के भी प्रभारी रहे। वह मंदिर के निकट ही एक कमरें में भगवान बदरीविशाल को चढायी गयी तुलसी मालाओं को संभाल‌कर रखते थे तथा बाद में उस तुलसी माला को‌ प्रसाद स्वरूप तीर्थयात्रियों को भेजा जाता था ।इसी तरह छपेल दा आजकल भगवान बदरीविशाल मंदिर परिसर सें सफाई हेतु सेवा देते रहे। आज  रविवार‌ को श्री बदरीनाथ धाम में प्रभारी अधिकारी/ सहायक अभियंता विपिन तिवारी की अध्यक्षता   में छपेल दा का विदाई स्वागत  समारोह संपन्न  हुआ जिसमें छपेल सिंह  छपेल दा को  फूल मालाओं से स्वागतकर  कर विदाई दी गयी। स्वागत समारोह में  वक्ताओं ने छपेल दा को एक कुशल कार्मिक बताया। उनके दीर्घ जीवन की कामना की।
इस अवसर पर रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी, नायब रावल अंबरनाथ नंबूदरी,  मुख्य प्रशासनिक अधिकारी/ प्रभारी अधिकारी  गिरीश चौहान, धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल, प्रशासनिक अधिकारी कुलदीप भट्ट,‌ प्रशासनिक अधिकारी विवेक थपलियाल, राजेंद्र सेमवाल,संतोष तिवारी,  संदेश‌ मेहता केदार सिंह रावत,संजय तिवारी, अजय सती,अनसुया नौटियाल योगंबर सिंह, अजीत भंडारी, कुलानंद पंत, सत्येंद्र चौहान, मनमोहन नेगी, रत्नेश‌ पंवार, संजय भंडारी,,हरेंद्र कोठारी, देवेंद्र‌ पंवार दिनेश भट्ट,विकास सनवाल, हरीश‌ जोशी मनोज सिंह, अंबरीश आदि मौजूद रहे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार मंदिर समिति के श्री नृसिंह मंदिर कार्यालय में सहायक सागर जोशी भी आज सेवानिवृत्त हो गये जोशीमठ कार्यालय में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी विजेंद्र बिष्ट तथा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी दीपक नौटियाल  श्री  नृसिंह मंदिर प्रभारी संदीप कपरवाण, पुजारी हनुमान प्रसाद डिमरी, प्रबंधक भूपेंद्र राणा, रामप्रसाद थपलियाल केशव, आदि ने सागर जोशी को सेवानिवृत्ति पर विदाई दी। मंदिर समिति के  बदरीनाथ- केदारनाथ अधिष्ठान से जुड़े सभी अधिकारियों -कर्मचारियों ने सेवानिवृत्त  हुए कर्मचारियों के दीर्घायु जीवन की कामना की है।