टिहरी : जिले में एकीकृत खेती के लिए एक गांव को मॉडल के रूप में करें विकसित – कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा

टिहरी : जिले में एकीकृत खेती के लिए एक गांव को मॉडल के रूप में करें विकसित – कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा
  • जनपद क्षेत्रान्तर्गत एकीकृत खेती के लिए एक गांव को मॉडल के रूप में विकसित करें।
  • विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को लाभांश देते समय कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति भी सुनिश्चित करें।
टिहरी : शुक्रवार को प्रदेश के पशुपालन, दुग्ध विकास, मत्स्य पालन, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग, प्रोटोकॉल, कौशल विकास एवं सेवायोजन मंत्री सौरभ बहुगुणा ने टीएचडीसी गेस्ट हाउस में पशुपालन, मस्त्य, डेयरी विकास, सेवायोजन एवं आईटीआई के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। कैबिनेट मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को लाभांश देते समय कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति भी सुनिश्चित करें, ताकि योजनाओं का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार हो सके। उन्होंने जनपद क्षेत्रान्तर्गत एकीकृत खेती के लिए प्रथम चरण में एक गांव को मॉडल के रूप में विकसित/स्थापित करने को कहा गया, ताकि ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा मिल सके।
कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने समीक्षा बैठक में विभागीय अधिकारियों से विभिन्न योजनाओं के तहत लाभार्थी चिन्ह्किरण, लाभार्थियों की संख्या, लाभांश वितरण प्रणाली, आयोजित गोष्ठियां एवं वित्तीय जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। पशुपालन विभाग के अधिकारी को विभिन्न योजनाओं के तहत गोष्ठियां बढ़ाने, गोष्ठियों के माध्यम से योजनाओं का प्रचार-प्रसार कर गोष्ठियों में आवेदकों से आवेदन लेने के निर्देश दिये। साथ ही लाभार्थियों की सूची तथा अच्छा काम कर रहे लाभार्थियों के सोर्ट वीडियो बनाकर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। ट्राउट मछली के उत्पादन एवं खपत को लेकर मत्स्य विभाग के अधिकारी को ट्राउट फिश के रेट एवं मार्केट बढ़ाने तथा महिलाओं को भी इससे जोड़ने के निर्देश दिये।
डेयरी विभाग के अधिकारी को नई दुग्ध समितियां बनाने तथा दुध की खरीद के साथ ही उपभोग बढ़ाने पर जोर देने को कहा। सेवायोजन अधिकारी को युवाओं का प्रयाग पोर्टल पर पंजीकरण बढ़ाने के निर्देश दिये। साथ ही आईटीआई को भी प्रेरित करने को कहा गया। आईटीआई के अधिकारी को नकोट में गांव वालों द्वारा आईटीआई भवन के लिए दान की गई भूमि पर भवन निर्माण की डीपीआर की फाईल जिलाधिकारी को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। विभागीय अधिकारियों को कलस्टर वेस्ट फार्मिंग पर फोक्स करने को कहा गया। बैठक में जिलाध्यक्ष भाजपा राजेश नौटियाल, सीडीओ अभिषेक त्रिपाठी, जिला सेवायोजन अधिकारी विनायक श्रीवास्तव, पशुपालन से डॉ. ऋचा, ब्लॉक प्रमुख जाखणीधार सुनीता देवी, ब्लॉक प्रमुख चम्बा शिवानी बिष्ट सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।