पोलिंग पार्टियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए तैयार रखे आकस्मिक प्लान – डीईओ

पोलिंग पार्टियों की सुरक्षित आवाजाही के लिए तैयार रखे आकस्मिक प्लान – डीईओ

-वर्षात को देखते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिए निर्देश

गोपेश्वर (चमोली)। बदरीनाथ विधानसभा उप निर्वाचन के दौरान भारी वर्षात की संभावना को देखते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी चमोली हिमांशु खुराना ने मंगलवार को सभी नोडल अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने निर्देशित किया कि चुनाव के दौरान आकस्मिक परिस्थितियों से निपटने के लिए प्लान-बी के रूप में कार्ययोजना तैयार की जाए।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वर्षात के मौसम में भूस्खलन और जल भराव से सड़क मार्गो के अवरूद्व होने की प्रबल संभावना है। उन्होंने निर्देशित किया कि सड़क मार्गो पर संवेदनशील स्थलों को चिह्नित करते हुए पर्याप्त संख्या में श्रमिक और जेसीबी तैनात की जाए। चिह्नित स्थलों पर पोलिंग पार्टियों के आवाजाही के लिए दोनों ओर से आवश्यक संख्या में वाहनों को तैनात रखा जाए। सभी वाहनों पर जीपीएस की व्यवस्था रहें। अपरिहार्य परिस्थितियों से निपटने के लिए वैकल्पिक मार्गो को भी चिह्नित करें। ब्लॉक अधिकारी मतदेय स्थलों के पैदल मार्गो को दुरुस्त रखें। बारिश में मतदान कर्मियों, सुरक्षा बलों और ईवीएम एवं अन्य मतदान सामग्री की सुरक्षा के लिए रेनकोट, बरसाती की समुचित व्यवस्था की जाए।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए कि बूथ हेल्थ मैनेजमेंट प्लान को अपरिहार्य परिस्थितियों के अनुरूप बनाया जाए। एम्बुलेंस एवं आवश्यक औषधि सहित प्रत्येक क्षेत्र में चिकित्सा दलों की तैनाती सुनिश्चित की जाए। मतदेय स्थलों पर विद्युत, पेयजल, क्यू-शेड के साथ ही मतदान कार्मिकों के ठहरने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था भी सुनिश्चित करें।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने लोनिवि, आरडब्लूडी, पीएमजीएसवाई, बीआरओ तथा सड़क मार्ग से संबंधित अन्य विभाग, विद्युत, पेयजल, चिकित्सा, आपदा प्रबंधन और तहसील प्रशासन को आपस में निरंतर समन्वय रखते हुए अपरिहार्य परिस्थिति से निपटने के लिए प्लान के साथ सजग और सर्तक रहने के निर्देश दिए। बैठक में अपर जिला निर्वाचन अधिकारी अभिनव शाह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी विवेक प्रकाश, पोखरी एसडीएम कमलेश मेहता, जोशीमठ एसडीएम सीएस बशिष्ठ, लोनिवि के अधिशासी अभियंता राजवीर सिंह चैहान, ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता अला दिया, आपदा प्रबंधन अधिकारी एनके जोशी आदि मौजूद थे।