उप चुनाव जनता के उपर थोपा गया चुनाव है जिसकी आवश्यकता नहीं थी – विधायक विक्रम सिंह नेगी

उप चुनाव जनता के उपर थोपा गया चुनाव है जिसकी आवश्यकता नहीं थी – विधायक विक्रम सिंह नेगी

गोपेश्वर (चमोली)। बदरीनाथ विधान सभा के उप चुनाव के लिए बनायी गई चुनाव संचालन समिति के संयोजक प्रतापनगर के विधायक विक्रम सिंह नेगी ने कहा कि यह उप चुनाव भाजपा के अहम के चलते बदरीनाथ विधान सभा की देवतुल्य जनता के उपर अनावश्यक रूप से थोपा गया है जबकि इसकी कोई आवश्यकता नहीं थी। और जनता को चाहिए कि इस का जबाव भाजपा को देने जा रही है।

मंगलवार को गोपेश्वर में कार्यकर्ता की बैठक को संबोधित करते हुए विधायक नेगी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि उन्हें जनता के बीच जाकर यह बात रखनी होगी कि भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र भंडारी जो कि कांग्रेस की विधायकी छोड़ भाजपा में शामिल हुए है उनसे सवाल किया जाना चाहिए कि यदि भंडारी वास्तव में विकास के नाम पर भाजपा में शामिल हुए हैं तो उन्हें बताना चाहिए कि उन्होंने विधानसभा में क्षेत्र के विकास के लिए कब-कब कौन से सवाल खड़े किए। उन्होंने कार्यकर्ताओं से यह भी कहा कि वर्तमान में भाजपा के प्रत्याशी जनता के बीच जिन कामों को वे अपने नाम से गिना रहे है वह किसकी सरकार में रहकर उन्होंने करवाये है।  उन्होंने कहा कि भंडारी दल बदल कर अब कह रहे हैं कि कांग्रेस ने आज तक कोई काम नहीं किया, पिछले 20 वर्षों से वह खुद जिला पंचायत अध्यक्ष, विधायक और मंत्री रह चुके हैं फिर जनता की काम करने की जिम्मेदारी किसकी थी। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को जनता के बीच जाकर यह भी बताना होगा कि भाजपा प्रत्याशी का विकास से कोई लेना देना नहीं है। सिर्फ जनता को बरगलाने का कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि इसका जबाव जनता इस उप चुनाव में देने जा रही है। कार्यकर्ताओं को भाजपा की करनी और कथनी जनता के बीच रखनी होगी। ताकि इस उपचुनाव को थोपने का भाजपा को सबक सीखा सके। 

जिलाध्यक्ष मुकेश नेगी ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता बदरीनाथ विधानसभा उपचुनाव में घर-घर जाकर इस उपचुनाव की हकीकत जनता के सम्मुख रखेगी। जिस प्रकार से पाला बदल कर जनता को छला है। उसने बदरीनाथ विधान सभा की जनता के बहुमत का भी अपमान हुआ है। और जनता इसका बदला जरूर लेगी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष मुकेश नेगी, प्रदेश प्रवक्ता कमल रतूडी, श्रवण सती, जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मण सिंह नेगी, लक्ष्मण रावत, कमल रावत, सुरेश डिमरी, भगत कनियाल, संदीप झिक्वाण आदि मौजूद थे। बैठक का संचालन जिला महामंत्री संदीप कुमार पटवाल ने किया।