चमोली हरेला पर्व पर चलाया जाएगा वृहद पौधरोपण अभियान

चमोली हरेला पर्व पर चलाया जाएगा वृहद पौधरोपण अभियान

गोपेश्वर (चमोली)। चमोली जिले में हरेला पर्व के दौरान 16 जुलाई से 15 अगस्त तक वृहत पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा। हरेला पर्व की तैयारियों को लेकर गुरुवार को जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने कलेक्ट्रेट सभागार में सभी संबंधित विभागों की बैठक ली। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी विभाग लक्ष्य निर्धारित करते हुए आपसी समन्वय और जन सहभागिता के साथ वृहद स्तर पर पौधरोपण के साथ उनका संरक्षण भी सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारी एवं कर्मचारी हरेला पर्व पर कम से कम एक पौधा अवश्य लगाए और उसके संरक्षण की जिम्मेदारी भी उठाए। हरेला पर्व पर वृहद पौधरोपण के लिए सभी विभाग अपना लक्ष्य तय कर बदरीनाथ वन प्रभाग को उपलब्ध करें। ताकि डिमांड के अनुसार वन विभाग से पौध उपलब्ध की जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी ब्लाक, तहसील, थाना, चौकी, स्कूल, वन पंचायत एवं कार्यालय परिसरों में पौधरोपण किया जाए। जल निगम और जल संस्थान विशेष तौर पर पेयजल स्रोत के आसपास, सड़क निर्माणदायी संस्थाएं सड़क किनारे, शिक्षा विभाग सभी विद्यालय परिसर एवं वन एवं पंचायतराज विभाग सभी वन पंचायतों में पौधरोपण करना सुनिश्चित करें। इसके अलावा मनरेगा, स्वयं सहायता समूह, महिला एवं युवक मंगल दलों एवं जन सहभागिता से भी हरेला पर्व पर पेयजल स्रोतों, नदी किनारे एवं सरोवरों के आसपास वृहद रूप से पौधरोपण किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि पौधरोपण जितना जरूरी है, उतना ही आवश्यक उनका संरक्षण भी है। इसलिए पौध लगाने के बाद उसके संरक्षण का भी संकल्प लें।

उप वन संरक्षक सर्वेश कुमार दुबे ने बताया कि हरेला पर्व 16 जुलाई को मनाया जाएगा। आगामी 16 जुलाई से 15 अगस्त तक जनपद में वृहद स्तर पर पौधारोपण अभियान चलाया जाएगा। इस वर्ष हरेला पर्व की थीम ‘‘पर्यावरण की रखवाली, घर-घर हरियाली, लाए समृद्धि और खुशहाली’’ रखा गया है। उन्होंने कहा कि हरेला पर्व पर 50 प्रतिशत फलदार पौधे और 50 प्रतिशत चारा एवं वन प्रजाति के पौधों का रोपण किया जाएगा। इसमें आंवला, काफल, दाड़िम, पदम, अमरूद, तेजपत्ता, सभी प्रकार के सिट्रस प्लांट सहित बांझ, बुरांश, अतीश, हरड, बेहड़ एवं अन्य वन प्रजाति के पौधे शामिल है। शासन के निर्देशों के क्रम में सभी विभागों को 16 से 18 जुलाई तक 50 प्रतिशत पौधारोपण का लक्ष्य पूर्ण करना है। विभागों को उनकी डिमांड के अनुसार वन एवं उद्यान विभाग से पौधे दी जाएगी। बैठक में डीएफओ सर्वेश कुमार दुबे, मुख्य विकास अधिकारी अभिनव शाह, अपर जिलाधिकारी विवेक प्रकाश, सीओ पुलिस प्रमोद शाह, परियोजना निदेशक आनंद सिंह, जिला उद्यान अधिकारी तेजपाल सिंह, एसडीएम प्रियंका सुंडली आदि मौजूद थे।