बसपा ने आकाश आनंद को उत्तराखण्ड विधानसभा उपचुनाव में बनाया स्टार प्रचारक, दी बड़ी जिम्मेदारी

बसपा ने आकाश आनंद को उत्तराखण्ड विधानसभा उपचुनाव में बनाया स्टार प्रचारक, दी बड़ी जिम्मेदारी

नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपनी रणनीति में एक बार फिर बड़ा बदलाव किया है। मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद को एक बार फिर से पार्टी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में शामिल किया है। बसपा की तरफ से उत्तराखण्ड के विधानसभा उपचुनाव के लिए पार्ट के स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की गई। इस लिस्ट में आकाश आनंद का नाम मायावती के बाद दूसरे नंबर पर है। इसका साफ मतलब है कि बसपा में आकाश आनंद एक बार फिर दूसरे नंबर के नेता हो गए हैं। हालांकि, अब भी उन्हें उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय न होने की बात कही गई है। उत्तराखण्ड में विधानसभा उपचुनाव 10 जुलाई को है, जहाँ मंगलौर विधानसभा सीट में बसपा विधायक सरबत करीम अंसारी की मौत के बाद उपचुनाव हो रहे हैं और बसपा ने पूर्व विधायक सरबत करीम अंसारी के पुत्र उबेदुर रहमान को उतारा है, कांग्रेस से काजी मुहम्मद निजामुद्दीन मैदान में हैं।

राजनीतिक पंडितों का मानना है कि लोकसभा चुनाव 2024 में हुए नुकसान को देखते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने भतीजे आकाश आनंद को एक बार फिर से मौका दिया है। अब देखना है कि आकाश इस मौके का कितना फायदा उठा पाते हैं। लोकसभा चुनाव के प्रचार-प्रसार के दौरान आकाश ने विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला था। आकाश आनंद अपने आक्रामक तेवरों की वजह से जल्दी लोकप्रिय होते दिख रहे थे। उन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ रैलियां भी की थी। शिक्षा, महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दे उठाकर युवाओं के बीच में आकाश ने पैठ बनाने की जबरदस्त कोशिश की थी।