देहरादून: मौसम विज्ञान विभाग द्वारा देहरादून में मंगलवार और बुधवार को भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग द्वारा जारी बारिश की चेतावनी को दृष्टिगत रखते हुए जिला अधिकारी सोनिका ने आईआरएस सिस्टम से जुड़े सभी अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि यदि क्षेत्र से किसी भी प्रकार की सूचना प्राप्त होती है तो तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करते हुए अपने विभाग से संबंधित आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कोई भी अधिकारी बिना अनुमति के अपना तैनाती स्थल एवं जनपद मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे और अपना फोन ऑन रखेंगे।

Uttarakhand weather

जिलाधिकारी सोनिका के दिशा निर्देशन पर आज तहसीलदार सदर सोहन सिंह रांगड ने गत दिवस 20 अगस्त 2022 को आई आपदा में मृतक संजय की पत्नी मंजू को उनके घर जाकर 4 लाख की अनुग्रह राशि वितरण किया। आपदा प्रभावित परिवारों को शिविरों में जिला प्रशासन द्वारा भोजन आदि करवाये जा रहे है। जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका के दिशा निर्देशन पर जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा प्रभावित लोगों को भोजन की समुचित व्यवस्था की गई है। प्रभावित परिवारों को किसी भी प्रकार की कठिनाई ना हो, इसके लिए जिलाधिकारी ने संबंधित क्षेत्र में अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है साथ ही राहत एवं बचाव व सर्च आपरेशन आदि कार्य की जानकारी प्राप्त कर रही है।

जिलाधिकारी के निर्देशों के अनुपालन में जिला प्रशासन की टीम द्वारा प्रभावित क्षेत्रों में व्यवस्थाएं बनाई जा रही है। नगर मजिस्ट्रेट कुश्म चैहान एवं तहसीलदार सदर प्रभावित क्षेत्रों में रहकर राहत कार्याें का सम्पादन कर रहे हैं साथ ही विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ समन्वय करते हुए व्यवस्थाओं को सामान्य बनाने में जुटे है। जिलाधिकारी के निर्देशों के अनुपालन में आपदा ग्रस्त क्षेत्र में मृत पशुओं शव से बीमारी ना फैले इसके लिए जिला पंचायत एवं पशुपालन विभाग द्वारा संयुक्त रुप से सर्च ऑपरेशन चलाया गया, ऑपरेशन के दौरान पशुओं के मृत शरीर का नियमानुसार निस्तारित किया गया तथा आपदा प्रभावित क्षेत्र में दवाइयों का छिड़काव किया जा रहा है। सड़के खोलने, सफाई-व्यवस्था, दवाई छिड़काव, स्वास्थ्य जांच, भोजन/राशन आपूर्ति के साथ ही प्रभावी सर्च आॅपरेशन किया जा रहा है। नगर निगम द्वारा साफ-सफाई एवं दवाईयों का छिड़काव एवं डेंगू मलेरिया अधिकारी एवं पशुपालन विभाग द्वारा दवाईयों का छिड़काव संपादित किया जा रहा है।

जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में अपर जिलाधिकारी डाॅ0 एस के बरनवाल व के.के मिश्रा आपदा मालदेवता राजकीय जूनियर हाईस्कूल में बनाये गए शिविर का निरीक्षण करते हुए वहां ठहराये गए प्रभावित लोगों परिवारों का हाल-चाल जाना तथा समुचित मूलभूत व्यवस्थाएं का जायजा लेते हुए संबंधित अधिकारियों को क्षेत्र में स्वास्थ्य, भोजन एवं मूलभूत सुविधाएं बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रभावितों हेतु भोजन, रहने आदि व्यवस्थाओं का भी अवलोकन किया।

वर्तमान में सरखेत/भैंसवाड़ में एनडीआरएफ के 1 दल कुल 20 खोज बचावबल, एसडीआरएफ के 4 दल कुल 24 खोज बचावबल एवं 1 डाॅग स्कवाइड (सरखेत/ग्वाड़/धोलागिरी पेरू रिजाॅर्ट/),फ्लड टीम राफ्ट के माध्यम से सौंग नदी डाॅग स्कवाड-2 एवं 6 बल सहित मालदेवता से नदी की ओर रेस्क्यू आॅपरेशेन संचालित कर रही है। 24 पुलिस बल जिनमें सरखेत में 7, लालपुल से डोईवाला 7 तथा बालावाला 5 टीमें रेस्क्यू में लगी हैं इसी प्रकार जिला प्रशासन के आला अधिकारियों सहित कार्मिक एवं निमार्ण खण्ड लोनिवि के 8 जेसीबी, 1 राॅक बे्रकर, 1 डम्पर, 2 पौकलेण्ड मशीन, अस्थाई खण्ड ऋषिकेश के 6 जेसीबी, 7 पौकलेण्ड तथा 20 डम्पर राहत बचाव कार्य में जुटी है इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग की 2 मैडिकल टीम जिनमें 1 रायपुर हाॅस्पिटल एवं 1 रिलीफ कैंप जूनियर हाईस्कूल मालदेवता में 2 एंबुलेंस सहित तैनात है।

By Skgnews