UKSSSC Paper Leak Case, Hakam Singh: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक (UKSSSC Paper Leak) के आरोपी मास्टमाइंड हाकम सिंह रावत पर एक और बड़ी कार्यवाही की गई है। हजारों मेहनती और इमानदार बेरोजगारों युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वाले हाकम सिंह के करोड़ों के आलीशान रिसोर्ट को आज नेस्तानाबूद कर दिया गया।

UKSSSC Paper Leak: हाकम की पत्नी लगाती रही रिजॉर्ट ध्वस्त न करने की गुहार

पूर्व भाजपा नेता व जिला पंचायत सदस्य हाकम सिंह रावत के सांकरी मोरी में सिदरी गांव में स्थित रिसॉर्ट पर आज मंगलवार को बुलडोजर चलाने की कार्रवाई की गई। रिजॉर्ट पर बुलडोजर चलने से पहले सैकड़ों की संख्या में वहां पहुंचे ग्रामीणों ने इस कार्रवाई का विरोध किया। इस दौरान हाकम सिंह की पत्नी बिसौली देवी ने प्रशासन की टीम के आगे रिजॉर्ट ध्वस्त न करने की गुहार लगाई। इस कार्यवाही को लेकर शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जिला प्रशासन की ओर से विभिन्न थानों की पुलिस फोर्स मौके पर तैनात की गई। लगभग 200 से अधिक पुलिस और आईटीबीपी जवान मौके पर तैनात रहे।

ध्वस्तीकरण से पहले ग्रामीणों ने खुद निकाला कीमती सामान

इस कार्यवाही से ठीक पहले ग्रामीण यहाँ धरने पर बैठ गए हालांकि, काफी समझाने के बाद ग्रामीणों ने खुद ही हाकम सिंह के रिजॉर्ट की छत से कीमती लकड़ियां ध्वस्तीकरण से पहले सुरक्षित निकाली। उसके बाद आलीशान रिसॉर्ट के ढांचे की दीवार पर बुलडोजर चलाकर उसे गिराया गया। इसके लिए लोक निर्माण विभाग की दो जेसीबी मौके पर बुलाई गई थी।

संबंधित पक्ष से वसूला जाएगा ध्वस्तीकरण की कार्रवाई का खर्चा

गोविंद वन्य जीव विहार प्रशासन ने बीते 26 सितंबर को नोटिस जारी कर अवैध रिजॉर्ट खाली कर इन्हें ध्वस्त करने के निर्देश दिए थे। ऐसा नहीं किए जाने पर चार अक्तूबर को प्रशासन ने ध्वस्तीकरण किए जाने की बात कही थी। साथ ही ध्वस्तीकरण में आए खर्चे की वसूली भी अतिक्रमणकारियों से वसूलने की बात कही थी। मंगलवार को गोविंद वन्य जीव विहार राष्ट्रीय पार्क, पुरोला तहसील प्रशासन और पुलिस सांकरी स्थित वन विभाग की भूमि पर बने हाकम सिंह के रिजॉर्ट को ध्वस्त करने पहुंची।

आलीशान रिसॉर्ट सहित तीन भवन सरकारी भूमि पर हुए चिन्हित

हाकम सिंह रावत के आलीशान रिसॉर्ट सहित तीन भवन राजस्व भूमि पर चिन्हित किए गए। जबकि दो भवन और 130 पेड़ों का सेब का बागीचा गोविंद वन्यजीव विहार राष्ट्रीय उद्यान की भूमि पर चिन्हित किया गया है। राजस्व विभाग की 1.128 हेक्टेयर भूमि पर हाकम सिंह रावत ने भव्‍य रिसॉर्ट बनाया, जो सबसे अधिक चर्चाओं में भी रहा है। इसके अलावा राजस्व भूमि पर हाकम सिंह रावत के दो अन्य भवन भी मिले हैं। पार्क की 0.907 हेक्टेयर भूमि पर सेब का एक बड़ा बागीचा और दो भवन भी मिले।

Hakam Singh Rawat : जानिए क्या है मामला?

बता दें कि, उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग की भर्तियों में गड़बड़ी को लेकर युवाओं ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की थी। शिकायतों के बाद इस मामले की जांच के आदेश दिए गये। देहरादून के रायपुर थाने में मुकदमा दर्ज कर जांच एसटीएफ को सौंपी गई। जिसके बाद से मामले में एक के बाद एक बड़े खुलासे होते चले गए। इनमे सबसे बड़ा नाम उत्तरकाशी के नेता हाकम सिंह को लेकर हुआ। जिसके बाद हाकम सिंह को भाजपा से निष्कासित करने के साथ ही सलाखों के पीछे भेजा गया। पेपर लीक मामले में अब तक 40 से ज्यादा गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। भर्ती परीक्षा नकल गिरोह का मास्टरमाइंड हाकम सिंह इस समय जेल में है। इस मामले के बाद हाकम सिंह की संपत्ति की जांच हुई तो उसकी अकूत दौलत और तमाम रिसोर्ट आदि के बारे में पता चला, जिस पर कार्यवाही हुई है।

By Skgnews