ऋषिकेश: उत्तराखंड में सड़क हादसों का सिलसिला लगातार जारी है। ब्यासी के पास एक कार दुर्घटना में बैंक मैनेजर की मौत हो गई। बैंक मैनेजर रविवार को देहरादून स्थित घर से पौड़ी ड्यूटी के लिए निकले थे। जिसके बाद वह लापता हो गए थे। आज ब्यासी के पास गंगा में उनकी कार गिरी हुई दिखाई दी। काफी मशक्कत के बाद शव को भी बरामद किया गया।

जानकारी के अनुसार, ब्रांच मैनेजर अमित विजेत्रा कल देहरादून से सैंजी के लिए अपनी कार से निकले थे, लेकिन देर शाम तक भी वो सैंची नहीं पहुंचे। सोमवार तक भी पौड़ी नहीं पहुंचने के बाद अमित के परिजनों ने प्रेमनगर थाने में उनकी गुमशुदगी दर्ज करवाई। सार्विलांस टीम के अनुसार उनकी अंतिम लोकेशन ब्यासी क्षेत्र में पाई गई।

तलाशी अभियान के दौरान पुलिस को बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ब्यासी के पास गंगा में एक कार गिरी हुई दिखाई दी। एसडीआरएफ ब्यासी टीम द्वारा कार को गंगा से निकालने के दौरान एक युवक का शव भी फंसा हुआ नजर आया। लेकिन गंगा का जलस्तर और बहाव अधिक होने के कारण एसडीआरएफ ढालवाला की टीम के साथ मिलकर काफी मशक्कत के बाद शव को बरामद कर लिया गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए एम्स ऋषिकेश भेज दिया गया है।

कार से पास से ही ब्रांच मैनेजर अमित विजेत्रा का पहचान पत्र मिला था। शव की पहचान देहरादून के प्रेमनगर थाना क्षेत्र के कोलागढ़, प्रेमपुर निवासी अमित विजेत्रा (उम्र 36) पुत्र जबर सिंह के रूप में हुई। पुलिस ने बताया कि मृतक अमित विजेत्रा पौड़ी तहसील के सैंजी गांव स्थित एसबीआई के मैनेजर थे।

By Skgnews