देहरादून (bharatjan.com): उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) भर्ती पेपर लीक मामले में गिरफ्तारी के बाद अब ओएमआर शीट (OMR SHEET) गड़बड़ी मामले में गिरफ्तारी हुई है। एसटीएफ ने इस मामले में शिक्षक को गिरफ्तार किया है। 2016 में हुई इस भर्ती में गड़बड़ी की पुष्टि के बाद विजिलेंस में जनवरी 2020 में मुकदमा दर्ज किया था। जिसे अब एसटीएफ को स्थांतरित किया गया है। इस परीक्षा में गड़बड़ी के प्रथम लिंक का खुलासा हुआ है।

जानकारी के अनुसार, वर्ष 2016 में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी (VPDO) परीक्षा जांच में ओएमआर शीट में गड़बड़ी की पुष्टि हुई थी। जिसके उपरांत विजिलेंस में मुकदमा जनवरी 2020 में दर्ज किया गया था। इस मुकदमे की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उपरोक्त मुकदमे को एसटीएफ को स्थांतरित करने के आदेश निर्गत किए थे।

एसटीएफ द्वारा यह मुकदमा कुछ दिन पूर्व प्राप्त होने पर गहन पूछताछ और साक्ष्य संकलन की कार्यवाही शुरू की गई। इसी क्रम में आज 2016 की ग्राम पंचायत विकास अधिकारी परीक्षा (VPDO EXAM 2016) में पुख्ता साक्ष्य के आधार पर एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया। इसी के साथ एसटीएफ ने परीक्षा में गड़बड़ी के प्रथम लिंक का खुलासा कर दिया है।

गिरफ्तार अभियुक्त मुकेश कुमार शर्मा पुत्र सुरेश आनंद शर्मा, निवासी मोहल्ला बसंत बिहार गिरीताल, थाना काशीपुर, जनपद उधम सिंह नगर है। जिसका मूल पता ग्राम पंजारा बिचला, तहसील धुमाकोट, जिला पौड़ी गढ़वाल है। जो लोक सेवक राजकीय प्राथमिक विद्यालय च्छुलसिया, तहसील धुमाकोट, जिला पौड़ी गढ़वाल में अध्यापक है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में हुई भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ी पाई जाने पर कड़ा रुख अख्तियार किया है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख़्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

By Skgnews