ऋषिकेश: उत्तराखंड में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां एक कलयुगी बेटे ने नशे की हालत में अपनी मां को जान से मारने का प्रयास किया। युवक ने भारी औजार से मां के सिर और हाथ पर वार किया, जिससे महिला का सिर फट गया और हाथ भी बुरी तरीके से फ्रैक्चर हो गया। पिता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, 15 सितंबर को वादी द्वारिका प्रसाद कोठारी, निवासी सुमन विहार, बापू ग्राम, ऋषिकेश ने एक लिखित तहरीर दी कि, उसके पुत्र शुभम कोठारी (उम्र 23 वर्ष) ने व्यक्ति की पत्नी गुड्डी देवी को जान से मारने की कोशिश की। उसने महिला के सिर पर गंभीर चोट मारी और हाथ फ्रैक्चर कर दिया। इस तहरीर के आधार पर कोतवाली ऋषिकेश में मुकदमा अपराध संख्या 540/22 धारा 307 325 504 आईपीसी बनाम शुभम अभियोग पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई।

द्वारिका प्रसाद कोठारी ने बताया कि, उनका छोटा बेटा शुभम कोठारी नशे का आदी है। हर दिन नशे की हालत में घर आने के बाद वह परिजनों के साथ गाली गलौज और मारपीट करता रहता है। कई बार समझाने के बावजूद शुभम नशे की लत को छोड़ने के लिए तैयार नहीं है। देर रात जब शुभम की मां गुड्डी देवी नशा नहीं करने को लेकर समझा रही थी, तो शुभम ने नशे की हालत में अपनी मां को जान से मारने का प्रयास किया। शुभम ने एक भारी भरकम औजार उठाकर अपनी मां के सिर और हाथ पर मारने लगा, देखते ही देखते गुड्डी देवी खून से लहूलुहान हो गई। जिसे राजकीय चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने गंभीर हालत को देखते हुए गुड्डी देवी को हायर सेंटर रेफर कर दिया है।

घटना की जानकारी पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश ने तत्काल अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए एक टीम गठित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। जिसके बाद 15 सितंबर को गठित टीम ने मुखबिर तंत्र की सहायता से अभियुक्त शुभम को शिवाजी नगर से गिरफ्तार किया। पुलिस टीम में उप निरीक्षक विनोद कुमार, चौकी प्रभारी त्रिवेणी घाट और कांस्टेबल दुष्यंत शामिल रहे।

By Skgnews