मसूरी: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) में भर्ती घोटालों को पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गंभीर बताया है। उन्होंने सरकार से चयन आयोग को भंग करने की सिफारिश की है।

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत धनोल्टी विधानसभा के सुरकंडा देवी में वृक्षारोपण के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। इस मौके पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि, उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में हुए पेपर लीक का मामला काफी गंभीर है। उन्होंने कहा कि, हमारे योग्य बच्चों के भविष्य से खेलने का काम शॉर्टकट नीति अपनाने वाले लोग कर रहे हैं और चयन आयोग की एजेंसी को प्रभावित करने का काम किया जा रहा है।

पूर्व सीएम ने कहा कि, उत्तर प्रदेश में भी एक बार अधीनस्थ सेवा चयन आयोग का गठन किया गया था और उसमे हुए घोटालों के कारणों अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को भंग करना पड़ा। उन्होंने कहा कि अगर इस तरीके के घोटाला उत्तराखंड में हो रहा है तो सरकार को उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को भंग करने पर विचार करना चाहिये। इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो भी घोटाले में सम्मिलित हैं, उन पर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

By Skgnews