चमोली: उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में भी नशे का कारोबार बढ़ रहा है। चमोली पुलिस ने जनपद को नशामुक्त करने के लिए नशे के सौदागरों के खिलाफ अभियान चलाया है। इसी कड़ी में पुलिस ने अवैध चरस के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में युवक ने बताया कि, हाल ही में उसने पुलिस कांस्टेबल भर्ती की फिजिकल परीक्षा भी पास की है। लेकिन इस गोरखधंधे ने 23 साल के उम्र में उसे अपराधी बना दिया।

दरअसल, चमोली जिले को नशामुक्त करने के उद्देश्य से पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे ने पुलिसकर्मियों को नशे के सौदागरों को गिरफ्तार करने और नशे के विरुद्ध आमजनमानस को जागरुक करने के लिए निर्देशित किया गया है। इसी कड़ी में बुधवार को पुलिस उपाधीक्षक ऑपरेशन नताशा सिंह के पर्यवेक्षण में कोतवाली चमोली और एसओजी की संयुक्त टीम ने पीपलकोटी क्षेत्र से एक व्यक्ति को 770 ग्राम अवैध चरस के साथ गिरफ्तार किया। उक्त युवक के विरुद्ध थाना चमोली में एनडीपीएस एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया है। अभियुक्त को आज न्यायालय में पेश किया जाएगा।

गिरफ्तार अभियुक्त संजीत कुमार (उम्र 23) पुत्र बद्रीलाल, ग्राम गुलाबकोटी थाना जोशीमठ जनपद चमोली का रहने वाला है। पूछताछ में अभियुक्त संजीत कुमार ने बताया कि वह उर्गम घाटी क्षेत्र से चरस इकट्ठा कर मैदानी क्षेत्र में ऊंचे दामों पर बेचता है। उसने वर्तमान में प्रचलित पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में प्रतिभाग किया था और फिजिकल परीक्षा भी पास कर ली है।

पुलिस टीम में पुलिस उपाधीक्षक ऑपरेशन नताशा सिंह, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली चमोली कुलदीप रावत, प्रभारी एसओजी चमोली नवनीत भंडारी, आरक्षी यतेंद्र (एसओजी) और आरक्षी रविकांत (एसओजी) शामिल रहे।

By Skgnews