Pauri Bus Accident : उत्तराखंड में बीते कल मंगलवार को ही दर्दनाक बस दुर्घटना का रेस्क्यू कार्य पूरा कर लिया गया है। रेस्क्यू टीम ने 30 मृतकों और 20 घायलों को खाई से बाहर निकाला। 20 घायलों में से 02 व्यक्तियों की हॉस्पिटल ले जाते समय मौत हो गई। बस सवार कुल 50 लोगों में से 32 लोगों की मौत और 18 घायलों का उपचार चल रहा है।

इस हादसे में 32 बारातियों की जान चली गई, जिसके बाद शादियों की खुशियां मातम में बदल गई। अपने करीबियों की खोने के बाद दुल्हा भी सदमे में है, उसका रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं, इस हादसे से आहत दुल्हा संदीप पूरी रात कार में ही बैठा रहा। हादसे से सदमे में आए दूल्हे ने शादी करने से भी इंकार कर दिया और बिना फेरे लिए ही घर वापस लौट आया।

एसडीआरएफ से मिली जानकारी के अनुसार, 04 अक्टूबर 2022 को सांय लगभग 08:00 बजे SDRF को धुमाकोट क्षेत्रान्तर्गत वीरोंखाल के पास सिमड़ी गांव में एक बारात की बस खाई में गिरने की सूचना प्राप्त हुई। घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत श्री मणिकांत मिश्रा, सेनानायक SDRF द्वारा श्रीनगर, कोटद्वार, खैरना, सतपुली व रुद्रपुर से SDRF की रेस्क्यू टीमें घटनास्थल पर रेस्क्यू कार्यों हेतु निर्देशित किया गया।

उक्त सूचना पर SDRF रेस्क्यू टीमें मय रेस्क्यू उपकरणों के त्वरित रेस्क्यू हेतु घटनास्थल के लिए रवाना हुई। उक्त बस में सवार यात्री बारात में गए थे जोकि लालढांग हरिद्वार से काड़ागांव वापिस आ रहे थे, जिसमें लगभग 45-50 लोग सवार थे। वीरोंखाल से आगे सिमड़ी गांव के पास मोड़ काटते समय बस अचानक अनियंत्रित होकर 500 मीटर गहरी खाई में दुर्घटनाग्रस्त हो गयी।

घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस व लोगों द्वारा 09 लोगों को निकाल लिया गया था, जिसमे से 06 घायलों को बीरोंखाल अस्पताल में भर्ती कराया गया है व 01 गंभीर घायल को कोटद्वार हेतु रेफर किया गया है। अन्य 02 व्यक्तियों की स्थिति सामान्य है। SDRF रेस्क्यू टीमों द्वारा रात्रि के घनघोर अंधेरे व अत्यधिक विषम परिस्थितियों में लगभग 500 मीटर गहरी खाई में रोप बांधकर में उतरा गया जहाँ से स्ट्रैचर द्वारा एक- एक कर के घायलों व मृतकों को निकाला गया।

वहीं कल से लगातार चल रहे रेस्क्यू कार्य में इंस्पेक्टर बालम सिंह बजेली, SDRF के नेतृत्व में SDRF रेस्क्यू टीमों द्वारा NDRF, फायर सर्विस, सिविल पुलिस व अन्य के साथ समन्वय स्थापित करते हुए रेस्क्यू कार्य किया गया। अत्यधिक विषम परिस्थितियों में SDRF टीम द्वारा रिवर क्रासिंग तकनीक का प्रयोग करते हुए रोप स्ट्रैचर के माध्यम से सभी को खाई से निकाल कर मुख्य मार्ग तक पहुँचाया जा चुका है। SDRF रेस्क्यू टीम रिखणीखाल, धुमाकोट में गतिमान रेस्क्यू कार्य पूर्ण कर लिया गया है। रेस्क्यू टीम ने 30 मृतकों व 20 घायलों को निकाला।
20 घायलों में से 02 व्यक्तियों की हॉस्पिटल ले जाते समय मृत्यु हो गई थी। कुल मृतकों का आंकड़ा 32 पहुंच गया है, 18 घायल हैं।

By Skgnews