चमोली: जनता की समस्याओं एवं शिकायतों का स्थानीय स्तर पर निस्तारण किए जाने हेतु शनिवार को जिलाधिकारी हिमांशु खुराना की अध्यक्षता में दशोली ब्लाक के राजकीय आर्दश उच्च प्राथमिक विद्यालय हरमनी में बहुउदेशीय शिविर आयोजित किया गया। शिविर में क्षेत्रीय जनता ने 30 शिकायतें दर्ज की। जिसमें से अधिकांश शिकायतों का जिलाधिकारी ने मौके पर ही निस्तारण किया। बहुउदेशीय शिविर में लगे विभागीय स्टॉलों के माध्यम से 520 से अधिक लोगों को लाभान्वित किया गया। शिविर में क्षेत्रवासियों ने सड़क, शिक्षा, विद्युत, सामजिक पेंशन, पीएम आवास, भूमि का मुआवजा, क्षतिग्रस्त पैदल मार्ग, भूस्खलन, बरसात में क्षतिग्रस्त निजी संपत्तियों का प्रतिकर, आर्थिक सहायता आदि से जुडी शिकायतें दर्ज की।

बहुउदेशीय शिविर में एलोपैथिक द्वारा 216 लोगों का स्वाथ्य परीक्षण किया गया। इसमें 63 लोगों में गैर संचारी रोगों की जांच, 25 हड्डी रोगियों, 13 ईएनटी, 17 लोगों की आंखों की जांच के साथ ही 5 दिब्यांग प्रमाण पत्र भी निर्गत किए गए। होम्योपैथिक के स्टॉल पर 121 तथा आयुर्वेदिक ने 31 लोगों का परीक्षण कर दवा दी गई। पंचायत राज विभाग ने दो परिवार रजिस्टर की नकल और एक राशन कार्ड बनाया गया। समाज कल्याण के स्टॉल पर 10 पेंशन लाभार्थियों का भौतिक सत्यापन के साथ ही वृद्वावस्था की 3 और दिब्यांग के 4 आवेदन लिए गए। कृषि विभाग के स्टॉल पर 20, उद्यान ने 35, पशुपालन ने 10 लाभार्थियों को खाद, बीज, उपकरण एवं दवा वितरण की गई। शिविर में 10 लोगों के आधार कार्ड और 11 लोगों के आयुष्मान कार्ड भी बनाए गए।

जिलाधिकारी ने कहा कि बहुउदेशीय शिविरों के माध्यम से आम जनता की समस्याओं का स्थानीय स्तर पर निस्तारण करने और विभागीय योजनाओं का लाभ सरलता से आम आदमी तक पहुॅचाने का प्रयास किया गया है। बताया कि इस शिविर के माध्यम से लोगों में गैर संचारी रोग जैसे मधुमेह, ब्लडप्रेशर, हाइपरटेंशन, हदय रोग, अल्जाइमर, मोतियाबिंद इत्याति की स्क्रीनिंग की गई है, ताकि समय रहते लोगों को बीमारियों की जानकारी और उपचार मिल सके। इसके अलावा हड्डी, नेत्र, क्षय रोग, ईएनटी की जांच के साथ लोगों के आयुष्मान कार्ड व दिब्यांग कार्ड वितरित किए गए। शिविर में जिलाधिकारी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनता की शिकायतों का प्राथमिकता पर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। कहा कि लंबित शिकायतों की अगले 15 दिनों में समीक्षा भी की जाएगी। जिलाधिकारी ने क्षेत्रवासियों से अपील करते हुए कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव पर 13 से 15 अप्रैल तक सभी लोग अपने घरों में गर्व से तिरंगा अवश्य फहराए। इस दौरान जिलाधिकारी ने प्रा.वि. के परिसर में पौधरोपण भी किया।

बहुउदेशीय शिविर में रांगतोली, लांसी, हरमनी, मझोठी, सेमडुंग्रा, लस्यारी आदि गांवों के लोगों ने अपने क्षेत्र की समस्याएं रखी। चमोली-लांसी-सरतोली मोटर मार्ग पर सुरक्षा दीवार, नाली निर्माण, भूस्खलन और कुहेड-मथरपाल मोटर मार्ग पर काश्तकारों की भूमि का मुआवजा न मिलने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने लोनिवि और पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को सड़क सुधारीकरण के तत्काल कार्य शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रभावित गांवों में मुआवजा वितरण के लिए शिविर लगाए और मौके पर लोगों के मुआवजा प्रकरणों का निस्तारण करें। शिविर में लोनिवि के अधिशासी अभियंता के उपस्थित न रहने पर उन्हें कारण बताओं नोटिस जारी किया गया। प्रा.वि. लांसी, मझोठी में शिक्षक न होने की शिकायत पर जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि शिक्षकों की तैनाती कर दी गई है। क्षेत्र में खेल मैदान बनाने की मांग पर जिलाधिकारी ने युवा कल्याण विभाग को इसका प्रस्ताव उपलब्ध कराने को कहा। पीएम आवास न मिलने की शिकायत पर बताया कि सभी पात्र लोगों को इसका लाभ दिया जाएगा। बाजपुर में 5 परिवारों की विस्थापन की मांग को लेकर डीएम ने कहा कि जांच के बाद इसका प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। राउप्रावि लांसी में भोजन माता को हटाए जाने के मामले में जिला शिक्षा अधिकारी को इसकी जांच करने के निर्देश दिए।

शिविर में उप वन संरक्षण सर्वेश कुमार दुबे, अपर जिलाधिकारी अभिषेक त्रिपाठी, एसडीएम अभिनव शाह, सीओ पुलिस धन सिंह तोमर, एसीएमओ डा.एमएस खाती, परियोजना निदेशक आनंद सिंह सहित समस्त विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी एवं बडी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे।

By Skgnews