Avalanche in Kedarnath Dham : विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ में आज सुबह फिर भयानक एवलांच देखने को मिला। पिछले 10 दिनों में यहां दूसरी बार हिमस्खलन हुआ है। इससे तीर्थ यात्रियों और स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल देखने को मिला। जिसने भी यह हिमस्‍खलन देखा उसकी आंखों के सामने 2013 की आपदा के दृष्‍य घूम गए। हालांकि, राहत की बात रही कि, मंदिर और किसी भी तीर्थ यात्री को कोई नुकसान नहीं हुआ है। प्रशासन इस मामले पर नजर बनाए हुए है।

Avalanche in Kedarnath Dham: भरभरा कर गिरा बर्फ का पहाड़

जानकारी के अनुसार, केदारनाथ धाम में चोराबाड़ी से करीब 03 किमी ऊपर बर्फ का पहाड़ खिसकने की घटना सामने आई है। आज यानी शनिवार सुबह 06 बजे हुई इस घटना का वीडियो वहां मौजूद यात्रियों ने बनाया, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में दिख रहा है कि, ग्लेशियर से बर्फ का पहाड़ भरभरा कर गिर गया। श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने जानकारी देते हुए बताया कि, केदारनाथ की पहाड़ियों पर हिमस्खलन हुआ है, लेकिन मंदिर सुरक्षित है। मंदिर को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

Avalanche in Kedarnath Dham: 10 दिन में दूसरी बार हिमस्खलन

वहीं इससे पहले कुछ दिन पूर्व 23 सितंबर को भी मंदिर से करीब 5 किमी पीछे बने चौराबाड़ी ग्लेशियर में एवलांच आया था। इसका भी वीडियो सामने आया था।

हिमस्खलन के बाद जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है। पुलिस-प्रशासन की ओर से संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। साथ ही तीर्थ यात्रियों को एहतियात बरतने की भी सलाह दी जा रही है।

Kedarnath Tragedy 2013 : देखने वालों को आई 2013 आपदा की याद

आपको बता दें कि, वर्ष 2013 में केदार वैली में चोराबाड़ी झील के टूटने से अचानक बाढ़ आ गई थी। झील में 16 जून 2013 की रात ग्लेशियर से हिमस्खलन हुआ था। आपदा में हजारों श्रद्धालुओं की जान भी गई थी। यह घटना दुनिया में सदी की सबसे बड़ी जल प्रलय से जुड़ी घटनाओं में से एक थी। बाढ़ के दौरान केदारनाथ धाम में करीब 3 लाख श्रद्धालु फंस गए थे, जिन्हें बाद में आर्मी, एयरफोर्स और नेवी के जवानों ने रेस्क्यू कर बचा लिया था। हालांकि, उसके बाद भी 4 हजार से ज्यादा लोग लापता हो गए थे।

By Skgnews