देहरादून: फर्जी आधार कार्ड आईडी बनाकर धोखाधड़ी से कार खरीदने वाले दो शातिरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. शातिरों ने किसी अन्य व्यक्ति की आईडी पर अपने फोटो लगाकर फर्जी दस्तावेज तैयार किये. जिसके बाद महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंस कम्पनी से एक आल्टो कार फाइनेंस कराई. जब पहली किस्त ही जमा नहीं की गई तो कंपनी ने उक्त व्यक्तियों की तलाश शुरू की. इसी दौरान यह धोखाधड़ी का मामला सामने आया. मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि मुख्य आरोपी कार सहित फरार है. जिसकी तलाश की जा रही है.

मामले के अनुसार, 03 अक्टूबर 2021 को वादी शॆरी सय्यद उमर पुत्र अबू बकर खान, निवासी बाबूगढ़ कैलाश होटल विकासनगर; हाल निवासी ट्रांसपोर्ट नगर देहरादून ने कोतवाली विकासनगर पर लिखित तहरीर दी कि, आशीष त्यागी निवासी जीवनगढ विकासनगर देहरादून व मनीष शर्मा और रामप्रसाद शर्मा नाम के व्यक्तियों ने हमारी कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंस से एक आल्टो कार फाइनेंस कराई. जिसमें अग्रिम भुगतान ₹80,000 किया गया और शेष ₹3,25,000 देने बाकी थे. कार को सेलाकुई शोरूम से हस्तगत किया गया और उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा जब पहली किस्त ही जमा नहीं की गई तो कंपनी की फाइनेंसर द्वारा उक्त व्यक्तियों की तलाश की गई. इसके लिए आईडी में जो फोटो लगे थे, वह फोटो उपरोक्त नाम और पते के व्यक्तियों से मैच नहीं खा रहे थे. उक्त धोखाधड़ी के संबंध में कोतवाली विकासनगर पर धोखाधड़ी से संबंधित अभियोग पंजीकृत किया गया.

घटना स्थल सेलाकुई का होने के कारण उपरोक्त अभियोग की विवेचना उच्च अधिकारी गण के आदेश पर 05 मार्च 22 को थाना सेलाकुई पर विवेचना हेतु अभियोग स्थानांतरित हुआ, जिसको तत्काल अभियोग क्रमांक पर लाकर मुकदमा अपराध संख्या 64 / 22 धारा 420/ 467/ 468/ 471/ 406/ 120b भादवी में पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई.

घटना की विवेचना से प्रकाश में आया कि जो नाम F.I.R मे मनीष शर्मा और रामप्रसाद शर्मा दर्ज कराए गए हैं, वह व्यक्ति तो अपने घर पर मौजूद हैं लेकिन उक्त घटनाक्रम इनके द्वारा करना नहीं पाया गया. उक्त धोखाधड़ी आकाश त्यागी निवासी जीवनगढ़ विकासनगर देहरादून और उसके सहयोगी देवेंद्र सिंह पुत्र केहर सिंह निवासी नियर बाला सुंदरी मंदिर कैनाल रोड जीवनगढ़ विकासनगर देहरादून और राजीव मलिक पुत्र राजपाल सिंह कनाल रोड बीकानेर वाली गली हरबर्टपुर विकासनगर के द्वारा मनीष शर्मा और रामप्रसाद शर्मा की आईडी लगाकर उस आईडी पर अपने फोटो लगाकर कूट रचित दस्तावेज तैयार कर उक्त घटना करना पाया गया. जिस पर पुलिस टीम ने पहले अभियुक्तों को तस्दीक किया. कंपनी से फोटो का मिलान किया गया तो उपरोक्त अभियुक्त गण द्वारा फाइनेंस कंपनी से कूट रचित दस्तावेजों के आधार पर अल्टो कार खरीदना और उसके बाद आल्टो कार सहित फरार होना पाया गया.

इस पर 27 अप्रैल 2022 की रात्रि में मुखबिर की सूचना पर अभियुक्त गणों के घर पर दबिश दी गई और अभियुक्त गण देवेंद्र और राजीव मलिक को उपरोक्त धोखाधड़ी की घटना में गिरफ्तार किया गया. घटना का सूत्रधार मुख्य आरोपी आशीष त्यागी निवासी जीवनगढ विकासनगर देहरादून अल्टो कार सहित फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है. गिरफ्तार अभियुक्त गणों को न्यायालय में पेश किया जा रहा है और आपराधिक इतिहास की भी जानकारी की जा रही है.

नाम व पता अभियुक्त गण

1 -देवेंद्र सिंह पुत्र केहर सिंह निवासी नियर बाला सुंदरी मंदिर कैनाल रोड जीवनगढ़ विकासनगर देहरादून

2- राजीव मलिक पुत्र राजपाल सिंह कनाल रोड बीकानेर वाली गली हरबर्टपुर विकासनगर जनपद देहरादून

पुलिस टीम

1-उप निरीक्षक सुरेंद्र सिंह राणा

2- कांस्टेबल 857 बृजपाल

3-कांस्टेबल 13 86 संजय कुमार

4-कास्टेबल 487 त्रेपन सिंह

5- S.O.G ग्रामीण से कॉन्स्टेबल जितेंद्र कुमार

By Skgnews