पौड़ी: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड दौरे पर हैं. इस दौरान मंगलवार को सीएम योगी अपने पैतृक गांव पंचूर भी पहुंचे. जहां उनका ग्रामीणों ढोल दमाऊं थाप और मशकबीन की धुन पर जोरदार स्वागत किया. घर पहुंचने पर योगी आदित्यनाथ सबसे पहले अपनी वयोवृद्ध मां सवित्री देवी के पास पहुंचे. उन्होंने मां के चरण छूए तो मां का आशीष भरा हाथ योगी के सिर पर आ गया. आरती उतारने के बाद मां सावित्री देवी ने बेटे योगी को गले लगा लिया. पांच साल बाद अपने बेटे योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनकी 84 वर्षीय मां सावित्री देवी काफी भावुक हो गईं. इस दौरान मां के साथ ही वहां मौजूद महिलाओं की आंखों में आंसू थे, तो योगी भी भावुक नजर आए. सीएम योगी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर भी पोस्ट की. कैप्शन में लिखा- मां.

इससे पहले मुख्यमंत्री तमाम सरकारी तामझाम के बगैर पैदल ही अपने गांव पहुंचे जहां पहाड़ी गीत के साथ उनका तहेदिल से स्वागत किया गया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के घर पहुंचने पर मां सावित्री देवी, बहन शशि पयाल और परिवार की अन्य महिलाओं ने उनकी आरती उतारी. बिथ्याणी से गांव जाते समय योगी कुछ देर ठांगर प्राइमरी स्कूल में भी रुके. यहां से योगी कच्ची सड़क से ही अपने घर तक पहुंचे. सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोनाकाल के दौरान 20 अप्रैल 2020 को पिता आनंद सिंह बिष्ट के निधन के बाद उनके अंतिम दर्शन को पैतृक गांव नहीं जा सके थे.

एक तरफ योगी के सबसे छोटे भाई महेंद्र सिंह बिष्ट के बेटे का मुंडन संस्कार हो रहा है, वहीं देश के सबसे बड़े सूबे का सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने पहली रात घर में बिताई है. योगी परिवार में सबसे छोटे भाई महेंद्र योगी द्वारा स्थापित महायोगी गुरु गोरक्षनाथ राजकीय महाविद्यालय बिथ्याणी में कार्यरत हैं. योगी शाम को न्यूतेर समारोह में शामिल हुए, इस दौरान उन्होंने सभी रिश्तेदारों और परिचितों से बात की. परिजनों की ओर से उनके लिए उसी कमरे को तैयार किया गया है, जिसमें वह बचपन में रहा करते थे. उनके घर से करीब सौ मीटर पहले सिर्फ मेहमानों और गांव वालों को ही जाने दिया जा रहा है. मौके पर उत्तराखंड पुलिस का सुरक्षा घेरा है, जबकि आंतरिक सुरक्षा एनएसजी कमांडो के हवाले है.

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.