रुद्रप्रयाग: भारी बारिश के कारण ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर सिरोबगड़ (Sirobgad) में करीब 36 घंटे से बाधित था, जिसे अब सुचारू कर दिया गया है। हालांकि, शनिवार को भी करीब 4 घंटे आवाजाही बंद रही। एनएच द्वारा काफी प्रयासों के बाद सुबह 10 बजे वाहनों की आवाजाही सुचारू की गई।

 

यहां यात्री एवं स्थानीय वाहन जोखिमों के बीच आवाजाही कर रहे हैं। यहां सफर करना खतरे से खाली नहीं है। कब पहाड़ी से पत्थर दुर्घटना को अंजाम दे इसका अंदाजा भी लगाना मुश्किल है।

वहीं पुलिस ने अपील की है कि, रुद्रप्रयाग क्षेत्रान्तर्गत सिरोबगड़ (Sirobgad) के पास अवरूद्ध राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात हेतु खुल गया है। लेकिन ऊपर पहाड़ी से निरन्तर मलबा और पत्थर गिरने का खतरा बरकरार है। इसको देखते हुए सावधानीपूर्वक यात्रा करें।

सिरोबगड़ (Sirobgad) डेंजर जोन का पिछले एक दशक से कोई स्थाई ट्रीटमेंट नहीं हो पाया है। वहीं इसके ठीक सामने ऑल वेदर परियोजना के तहत पपड़ासू बाईपास का निर्माण कार्य चल रहा है, जो तीन साल से जारी है। बाईपास निर्माण में तीन पुलों का भी निर्माण होना है, जिनमें एक पुल का आधा काम हुआ है, जबकि दो पुलों की सिर्फ नींव ही रखी गई है। बाईपास का निर्माण धीमी गति से चल रहा है, अगर यह कार्य जल्द पूरा किया जाए तो सिरोबगड़ का स्थायी समाधान हो जायेगा।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.