देहरादून: उत्तराखंड में सरकारी भर्ती परीक्षाओं में भ्रष्टाचार को लेकर नकल माफियाओं पर ताबड़तोड़ प्रहार जारी है। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) द्वारा आयोजित दो और परीक्षाओं की जांच एसटीएफ (STF) को सौंप दी गई है। अब सचिवालय रक्षक और कनिष्ठ सहायक (ज्यूडिशियरी) परीक्षाओं की जांच भी एसटीएफ करेगी। इसके अलावा फॉरेस्ट गार्ड भर्ती संबंधी अभियोग की भी STF द्वारा पुनः परीक्षण करने के लिए निर्देशित किया गया है।

पुलिस महानिदेशक (DGP) अशोक कुमार ने बताया कि, UKSSSC द्वारा आयोजित स्नातक स्तरीय परीक्षा की जांच STF द्वारा की जा रही है। इसी परिपेक्ष्य में पूर्व में आयोजित हुई सचिवालय रक्षक एवं कनिष्ठ सहायक (ज्यूडिशियरी) परीक्षाओं की जांच भी STF के सुपुर्द की गई है।

इसके अलावा वर्ष 2020 में उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा वन आरक्षी (फॉरेस्ट गार्ड) परीक्षा में ब्लूटूथ के जरिये नकल कराने वाले गिरोह को पकड़ा था, जिस संबंध में जनपद हरिद्वार और पौड़ी गढ़वाल में अभियोग पंजीकृत हैं। इन अभियोगों का भी STF द्वारा पुनः परीक्षण करने हेतु निर्देशित किया गया है।

बता दें कि उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा स्नातक स्तरीय भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में अब तक एसटीएफ ने 20 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही 83 लाख नगदी और कई संदिग्ध लेनदेन एवं अवैध संपत्ति की भी जानकारी मिली है। एसटीएफ ने इस जांच को लेकर केंद्रीय एजेंसी ईडी (ED) से भी जानकारी साझा की है। वही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ताजा बयान में किसी अन्य बड़ी जांच के भी संकेत दिए हैं।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.