देहरादून: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) स्नातक स्तरीय भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में एसटीएफ उत्तराखंड के रडार पर उत्तर प्रदेश का नकल माफिया केंद्रपाल आ गया है।

यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामला: अब तक 24

धामपुर नकल सेंटर का केंद्रबिंदु केंद्रपाल, निवासी धामपुर को गहन पूछताछ बाद एसटीएफ उत्तराखंड ने किया गिरफ्तार।

उत्तर प्रदेश का नकल माफिया का गड़जोड उत्तराखंड के सरकारी नौकरियों के सौदागरों से था कनेक्शन।

हाकम सिंह, चंदन मनराल, जगदीश गोस्वामी,ललित से थे गहरे संबंध।

केंद्रपाल अपने विभिन्न संपर्क के माध्यम से पेपर लीक की करता था व्यवस्था, मोटी रकम लेकर की जाती थी डील।

एसटीएफ उत्तराखंड के रडार पर उत्तर प्रदेश के अन्य नकल माफिया गड़जोड की तह तक जल्दी पहुंचने और पूरे गैंग की अंतिम कड़ी का पर्दाफाश शीघ्र होने की उम्मीद।

उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स की जांच में खुलासा हुआ कि, उत्तर प्रदेश का धामपुर नकल का केंद्र बिंदु बना। पिछले दिनों नाटकीय तरीके से उत्तर प्रदेश का नकल माफिया 2013 के मारपीट के पुराने मामले में जमानत तुड़वा कर बिजनौर जेल गया था। वहीं नाटकीय तरीके से जमानत तुड़वाकर जेल जाने वाला अब एसटीएफ उत्तराखंड के रडार पर है।

बता दें कि, यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में हाकम सिंह रावत के बिजनौर निवासी साथी ने एसटीएफ के डर से सरेंडर कर दिया था। बिजनौर जिले के धामपुर निवासी केंद्रपाल भी इन मास्टरमाइंड में से एक बताया जा रहा है। उसने अन्य पुराने मुकदमे में जमानत तुड़वाई और न्यायालय पहुंच गया था। बिजनौर सीजेएम न्यायालय ने उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.