UKSSSC PAPER LEAK : उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने पेपर लीक मामले में एक और गिरफ्तारी की है। मामले की कड़ियों को जोड़ते हुए पुख्ता साक्ष्यो के आधार पर तुषार चौहान निवासी जसपुर को गिरफ्तार किया गया। न्यायालय में पेश करने के बाद उसे 14 दिवस की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया। तुषार की रैंक परीक्षा में 164वीं आई थी।

स्नातक स्तरीय परीक्षा धांधली में STF की जांच जारी

गौर हो कि, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग उत्तराखण्ड (UKSSSC) द्वारा माह दिसम्बर 2021 में आयोजित स्नातक स्तरीय परीक्षा में हुई धाॅधली के परिप्रेक्ष्य में जनपद देहरादून के थाना रायपुर पर पंजीकृृत मु0अ0स0 289/22 धारा 420/467/468/471/34 भा0द0वि0 की विवेचना एस0टी0एफ0 द्वारा सम्पादित की जा रही है।

04 सरकारी कर्मचारियों और 03 संविदा कर्मी समेत 14 गिरफ्तार

एस0टी0एफ0 द्वारा उक्त अभियोग (UKSSSC Paper Leak) की विवेचना के दौरान प्रश्न पत्र आउट कराने की मिलीभगत में वर्तमान तक कुल 13 अपराधियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जिनमें से साक्ष्यो के आधार पर 04 सरकारी कर्मचारियों एवं 03 संविदा पर नौकरी करने वाले कर्मचारियों को भी मिलीभगत के आरोप में गिरफ्तार किया चुका है। इसी क्रम में एस0टी0एफ कार्यालय में पुनः पूछताछ हेतु बुलाये गये तुषार चौहान को साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है।

कोर्ट कर्मचारी ने दिया तुषार को पेपर, अन्य को भी बांटे पेपर 

मनोज जोशी (कोर्ट कर्मचारी) उधमसिंहनगर द्वारा तुषार चौहान पुत्र स्व विरेन्द्र सिंह नि0 कासमपुर, थाना जसपुर उधमसिंहनगर को पेपर उपलब्ध कराया और उसके साथ मिलकर रामनगर के रिजॉर्ट में परीक्षा से पूर्व प्रश्न पत्र को 3-4 अन्य अभ्यार्थियों को पेपर साल्व कराया गया। तुषार चौहान ने स्वयं तो उक्त प्रश्न पत्र की नकल कर परीक्षा दी गई, साथ ही साथ मनोज जोशी के साथ मिलकर अन्य परीक्षार्थियों को नकल कराई गई।

अभी खुलेंगे कई और राज

STF के अनुसार, अभियुक्त तुषार चौहान के संपर्क अन्य से जुड़ने की भी प्रबल संभावना प्रतीत होती है, जिसके कहने पर उपरोक्त को परीक्षा के प्रश्न पत्र उपलब्ध कराया गया हो।

UKSSSC PAPER LEAK मामले में नेताओं और सचिवालय से जुड़ रहे तार

इस मामले (UKSSSC Paper Leak) में अब तक पुलिसकर्मी और कोर्ट कर्मी समेत 13 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। यह चौदहवे अभियुक्त की गिरफ्तारी हुई है। वहीं कई लोगों से पूछताछ चल रही है। इसके तार अब नेताओं और सचिवालय से भी जुड़ रहे हैं। मामले में अब तक लाखों रुपए भी बरामद हुए हैं।

जांच में आया हैरान करने वाला मामला

वहीं जांच (UKSSSC PAPER LEAK) के दौरान चौंकाने वाला मामला यह सामने आया कि, पेपर प्रिंटिंग और पैकिंग के दौरान की सीसीटीवी फुटेज आयोग (UKSSSC) के पास नहीं हैं। यह जानकारी एसटीएफ को रिटायर्ड परीक्षा नियंत्रक नारायण सिंह डांगी से पूछताछ में मिली। नारायण सिंह को उत्तराखंड एसटीएफ ने अपने कार्यालय बुलाया था। कुछ सवालों के जवाब से उत्तराखंड एसटीएफ संतुष्ट नहीं है। मामले में उत्तराखंड एसटीएफ की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे- वैसे कई लोगों के नाम सामने आ रहे हैं। ऐसे में अभी कई और गिरफ्तारियां हो सकती है।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.