रुद्रप्रयाग: केदारनाथ पैदल मार्ग में कंडी से गिरकर एक बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। बताया गया कि यह बच्चा एक नेपाली मजदूर द्वारा कंडी से केदारनाथ ले जाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में कंडी से अचानक बच्चा गहरी खाई में गिर गया। इस घटना के बाद से नेपाली मजदूर मौके से फरार है। पुलिस ने मामले में सोनप्रयाग कोतवाली में मजदूर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है। साथ ही उसकी खोजबीन की जा रही है।

kedarnath accident

जानकारी के अनुसार, बीते दो दिन पहले आगरा का एक परिवार केदारनाथ यात्रा के लिए आया था। पति, पत्नी के साथ दो बच्चे भी साथ में चल रहे थे। गौरीकुंड से वह लोग घोड़े से चले और भीमबली में सभी उतर गए। इस बीच पैदल चलते हुए 5 साल के शिवाय गुप्ता, पुत्र विजय कुमार गुप्ता निवासी पांच यमुना कालोनी, रामबाग, आगरा ने रोते हुए चलने में असमर्थता जताई। इस बीच उसके माता-पिता ने बेटे को एक नेपाली मजदूर की कंडी पर सवार कर दिया और खुद पैदल चलने लगे।

बताया जा रहा है कि बड़ी लिंचौली के पास कंडी से बच्चा 200 मीटर नीचे गहरी खाई में गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई। बच्चे के माता-पिता को रास्ते से कुछ लोगों द्वारा बच्चे के खाई में गिरने की सूचना मिली। तभी आनन-फानन में लिंचौली पहुंचते ही माता-पिता ने पुलिस को मामला बताया और बच्चे की तलाश शुरू की गई।

पुलिस और एसडीआरएफ ने रेस्क्यू करते हुए गहरी खाई से बच्चे का शव बरामद किया। पुलिस ने मामले में सोनप्रयाग कोतवाली में नेपाली मजदूर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है। माता-पिता के पास नेपाली मजदूर की कोई पहचान नहीं थी, जिससे पुलिस को आरोपी मजदूर की पहचान करना मुश्किल हो रहा है। पुलिस ने केदारनाथ की यात्रा पर आए तीर्थयात्रियों से अपील की है कि, जब भी वह स्वयं या परिवार के किसी भी सदस्य को घोड़े-खच्चर या डंडी-कंडी में बैठाते हैं तो उससे पहले संबंधित मजदूर, हॉकर और डंडी कंडी संचालक की आईडी और फोटो जरूर लें। ताकि किसी भी परेशानी पर आसानी से उस तक पहुंचा जा सके।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.