देहरादून: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) भर्ती के पेपर लीक मामले में नकल माफियाओं पर एसटीएफ (STF) की सर्जिकल स्ट्राइक जारी है। इस मामले में बीती रात दो और गिरफ्तारियां हुई हैं। अब तक इसमें कुल 09 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। STF जांच टीम को पेपर लीक मामले में कई अहम सुराग भी मिले हैं।

यूकेएसएससी (UKSSSC) एग्जाम पेपर लीक मामले में STF ने उत्तराखंड स्थित एक यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारी दीपक चौहान और भावेश जगुड़ी को देर रात गिरफ्तार किया। एसटीएफ के मुताबिक, गूगल सर्च हिस्ट्री ने UKSSSC भर्ती परीक्षा पेपर लीक से संबंधित कई अहम राज खोले हैं। जिसके बारे में जांच पड़ताल जारी है। एसटीएफ टीम द्वारा गिरफ्तार लोगों से पूछताछ जारी है। आरोपियों ने बताया कि, एग्जाम से एक रात पहले देहरादून में किसी स्थान पर पेपर सॉल्व किए गए थे।

बीती रात गिरफ्तार किए गए दीपक चौहान और भावेश जगूड़ी UKSSSC परीक्षा के पेपर सॉल्व कराने में मदद करते थे। इनके द्वारा ही UKSSSC भर्ती परीक्षा पेपर को सॉल्व कर नकल करायी गयी थी। दोनों ही आरोपी एग्जाम से एक रात पहले देहरादून पहुंचे। जहां इन्होंने एक गुप्त स्थान में जाकर पेपर लीक करने वालों के साथ मिलकर अगले दिन आने वाले परीक्षा प्रश्न पत्र को सॉल्व किया।

लखनऊ से पेपर लीक की कड़ी जोड़ते हुए मास्टरमाइंड की लिस्ट में अब तक कुल 09 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। एसटीएफ इससे पहले गिरफ्तार आरोपियों में से 2 को सितारगंज लेकर पहुंची है, जहां अहम सुराग हाथ लगे हैं। वहीं दूसरी तरफ लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस के गिरफ्तार कर्मचारी को भी एसटीएफ की दूसरी टीम लखनऊ लेकर पहुंची है।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.