देहरादून: जनता की लगातार आ रही शिकायतों और लापरवाही बरतने पर डीएम ने जेई को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही कांट्रेक्टर पर पुलिस चौकी में आपदा प्रबन्धन अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

देहरादून जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार ने आज घंटाघर से दिलाराम चैक राजपुर रोड, प्रिंस चैक तक में स्मार्ट सिटी कार्यों का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान परेड ग्राउंड के समीप कनक चौक में नाली निर्माण कार्यों में खोदी गई गड्ढे और मौके पर निर्माण कार्य होना नही पाया गया तथा पूर्व में कई बार दी गई चेतावनी के बाद भी कार्य में ढिलाई बरतने पर तथा खोदी गए गढ्ढे से बरसात काल में जानमाल की सुरक्षा को दृष्टिगत कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए स्मार्ट सिटी के जेई को निलंबित करने और सम्बन्धित कांट्रेक्टर पर करनपुर पुलिस चैकी में आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 में वर्णित प्राविधानों के अनुसार कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

 

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार ने राजपुर रोड से दिलाराम चौक तक सड़क पर स्मार्ट सिटी के कार्यों से बने गड्ढों को भरने हेतु कार्यदायी संस्था बीएनआर सहित लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को तत्काल रात्रि में श्रमिक बढाते हुए सभी गड्ढे भरने के निर्देश दिए। साथ ही स्मार्ट सिटी एवं लोनिवि के अधिकारियों को प्रत्येक स्पॉट पर एई व जेई की तैनाती करते हुए सड़क को रात्रि तक ठीक करने तथा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व को इस कार्य की मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। साथ ही सम्बन्धित अधिकारियों को भी कड़ी चेतावनी देेते हुए कहा कि कार्यों में ढिलाई बरतने पर जनसुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए आपदा प्रबन्धन अधिनियम के तहत् काननूी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

जिलाधिकारी ने स्पष्ट निर्देश दिए कि यदि सड़क के गड्ढों से किसी को जान माल की काई क्षति होती है तो संबंधित कार्यदाई संस्थाओं पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। जिलाधिकारी द्वारा लोक निर्माण विभाग बी0आर0 देहरादून स्मार्ट सिटी लि0 को इस हेतु पत्र जारी करते हुए चेतावनी दी गई है।

निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के मिश्रा, सीजीएम स्मार्ट सिटी पदम कुमार, सीजीएम जगमोहन चैहान, अधि. अभि लो.नि.वि डी.सी नौटियाल सहित स्मार्ट सिटी लि0 के सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.