देहरादून: उत्तराखंड में राज्यसभा चुनाव को लेकर कार्यक्रम जारी हो गया है. प्रदेश में रिक्त होने जा रही राज्यसभा की एक सीट के लिए 10 जून को मतदान होगा और इसी दिन शाम पांच बजे से मतगणना होगी. मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने निर्वाचन हेतु निर्धारित कार्यकम जारी किया है. बता दें कि, राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा का कार्यकाल चार जुलाई को पूरा होने के चलते प्रदेश में एक राज्यसभा सीट खाली हो रही है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार, चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को अपने आपराधिक पूर्ववृत्ति (अगर कोई हो) की सूचना इलेक्ट्रॉनिक या प्रिंट मीडिया में तीन बार प्रकाशित करनी होगी.

जानिए चुनाव कार्यक्रम:

  • 24 मई: चुनाव की अधिसूचना जारी
  • 31 मई: नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि
  • 01 जून: नामांकन पत्रों की होगी जांच
  • 03 जून: तक नामांकन वापस लिए जा सकेंगे
  • 10 जून: इस दिन सुबह 09 बजे से शाम 04 बजे तक मतदान होगा। इसी दिन शाम 05 बजे मतगणना होगी.
  • 13 जून: इस तारिख से पहले निर्वाचन प्रकिया पूरी कर ली जायेगी.

Rajya sabha election uttarakhand

गौरतलब है कि, उत्तराखंड की 70 सदस्यीय विधान सभा में वर्तमान में भाजपा के पास दो तिहाई बहुमत है. राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा के पास बहुमत के चलते उनके प्रत्याशी की जीत तय है. विधानसभा में भाजपा के 47, कांग्रेस के 19, बसपा के दो विधायक हैं, जबकि दो निर्दलीय विधायक हैं. खबर है कि, इसके लिए भाजपा ने प्रत्याशी के लिए 10 नामों का पैनल बनाकर केंद्रीय संसदीय बोर्ड को भेज दिया है. जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार, पूर्व उपाध्यक्ष ज्योति गैरोला, भाजपा अनुशासन समिति के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष केदार जोशी, अल्पसंख्यक आयोग की अध्यक्ष कल्पना सैनी, भाजपा ओबीसी मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्यामवीर सैनी, पूर्व विधायक आशा नौटियाल, राष्ट्रीय एससीएसटी आयोग की पूर्व सदस्य स्वराज विद्धान के नाम शामिल हैं. हालाँकि प्रदेश भाजपा की ओर से पैनल में जिन नामों को भेजा गया है, वे सभी उत्तराखंड के हैं. लेकिन केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और प्रदेश प्रभारी रहे श्याम जाजू के नाम भी सियासी हलकों में चर्चा है. ऐसे में पार्टी हाईकमान पैनल से इतर भी प्रत्याशी का एलान कर चौंका सकता है.

By Skgnews

Leave a Reply

Your email address will not be published.