गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास दो बच्चों के साथ पहुंची बिहार की एक महिला काम देने की गुहार लगाई। इस पर सीएम योगी ने मुस्कुराते हुए कहा कि क्यों वहां तुम्हे काम नहीं मिल रहा? इस पर महिला ने सिर हिलाते हुए मना किया और काम देने की रट लगा दी। महिला का जिद पर अड़ा देख सीएम योगी ने कहा कि तुम्हे बिहार में ही काम मिलना चाहिए। इतना सुनकर भी महिला ने जिद नहीं छोड़ी तो मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को महिला का आवेदन पत्र देते हुए कहा कि इस पर आवश्यक कार्रवाई करें। तब कहीं जाकर महिला संतुष्ट नजर आई। दरअसल, यह वाक्या गोरखपुर का है। जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता दर्शन कार्यक्रम के दौरान लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। बता दें कि सीएम योगी अपने दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को गोरखपुर पहुंचे थे। दूसरे दिन बुधवार की सुबह उन्होंने सबसे पहले अपने गुरुओं के दर्शन पूजन किए। इसके बाद हमेशा की तरह जनता दर्शन कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सुनी करीब 500 लोगों की समस्याएं

गोरखनाथ मंदिर परिसर स्थित महंत दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार में जनता दर्शन के दौरान सीएम योगी ने गोरखपुर के साथ आसपास के जिलों से पहुंचे करीब 500 लोगों की समस्याएं सुनी और उनका निस्तारण करने का आश्वासन दिया। इस दौरान दर्जनभर लोगों ने प्रधानमंत्री आवास नहीं मिलने की शिकायत की। इस पर सीएम योगी ने कमिश्नर और जिलाधिकारी से कहा कि हर पात्र व्यक्ति को आवास मिलना सुनिश्चित करें।

पैसों के अभाव में नहीं रुकेगा इलाज

जनता दर्शन में गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए मदद की गुहार लगाने पहुंचे लोगों से सीएम योगी ने कहा कि धन के अभाव किसी का इलान नहीं रुकेगा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि सभी जरूरतमंद को एस्टीमेट बनाकर शासन को भेजें, ताकि उन्हें जल्द से जल्द धन राशि मुहैया कराई जा सके। उन्होंने कहा कि जन स्वास्थ्य यूपी सरकार की प्राथमिकता है।

By Skgnews