*** उत्तराखंड विकास पार्टी ने गैरसैण को राजधानी बनाने के लिए चलाया अभियान, #उत्तराखंड_की_राजधानी_गैरसैण *** *** उत्तराखंड की राजधानी बने गैरसैण - उत्तराखंड विकास पार्टी *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

सैन्य सम्मान के साथ हुआ ITBP SI प्यार सिंह राणा का अंतिम संस्कार

09-07-2020 17:45:58 By: kirtinidhi sajwan

उत्तरकाशी :  खट्टू्टूखाल के प्यार सिंह राणा आईटीबीपी में एसआई के पद पर तैनात थे. मंगलवार सुबह प्यार सिंह राणा की हार्ट अटैक से मौत हो गई. प्यार सिंह राणा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल में एसआई के पद पर तैनात थे. जो उत्तरकाशी जनपद के खट्टू खाल गांव के निवासी थे। आईटीबीपी के अधिकारियों ने ग्रामीणों को बताया कि प्यार सिंह राणा की मौत मंगलवार सुबह हार्ट अटैक से हुई. एसआई प्यार सिंह राणा की मौत की खबर से पूरे क्षेत्र में मातम पसरा हुआ है. एसआई प्यार सिंह राणा अपने पीछे पत्नी, तीन बेटियां और एक बेटा सहित शोकाकुल  परिवार छोड़ गये ।

 

अरुणाचल प्रदेश में तैनात आईटीबीपी के एसआई प्यार सिंह राणा एक सप्ताह बाद 40 दिन की छुट्टी आने वाले थे. इसके लिए उन्होंने अपने भाई सोहन सिंह राणा से क्वारंटाइन प्रक्रिया के बारे में भी पूछा था. ग्रामीणों ने बताया कि एसआई प्यार सिंह राणा पिछले दिसम्बर में अपनी तीन बेटियों में से दूसरी बेटी की शादी करवाकर ड्यूटी पर लौटे थे.

 

 आज सुबह उनका पार्थिव शरीर गांव पहुंचा. पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार देवीधार के पास पैतृक घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में ग्रामीण आइटीबीपी मातली के जवान, पुलिस व प्रशासन के लोग उपस्थित रहे ।