*** उत्तराखंड विकास पार्टी ने गैरसैण को राजधानी बनाने के लिए चलाया अभियान, #उत्तराखंड_की_राजधानी_गैरसैण *** *** उत्तराखंड की राजधानी बने गैरसैण - उत्तराखंड विकास पार्टी *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

सड़क चौड़ीकरण से क्षतिग्रस्त होने से ग्रामीण नाराज

09-07-2020 18:44:53 By: एडमिन

थराली (चमोली)। चमोली जिले के थराली विकास खंड के तलवाडी के ग्रामीणों ने मोटर सड़क के चैड़ीकरण एवं डामरीकरण के दौरान उनके गांवों के क्षतिग्रस्त पैदल मार्गों की मरम्मत ना किए जाने पर आक्रोश जताते हुए सड़क के निरीक्षण के लिए पहुंचे गौचर से सीमा सड़क संगठन के ओसी के सामने अपने विरोध दर्ज किया। उन्होंने जनता को आश्वासन दिया कि जल्द ही इस पर कार्रवाई की जायेगी व उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। 

 

बीआरओ की ओर से सामरिक महत्व की ग्वालदम-थराली-कर्णप्रयाग मोटर सड़क का चैड़ीकरण एवं डामरीकरण का कार्य किया गया था। इस दौरान तलवाड़ी क्षेत्र के कई पैदल रास्ते क्षतिग्रस्त हो गये थे। इस पैदल रास्तों के मरम्मत की मांग क्षेत्र की जनता बीआरओ से करती आ रही थी लेकिन बीआरओ की ओर से इस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।  गुरूवार को कमांडेंट आफिसर गौचर से सड़क का निरीक्षण करने तलवाड़ी पहुंचे तो इस की जानकारी मिलते ही तलवाड़ी के ग्रामीण जनता सड़क पर आ पहुंची और अपना विरोध जताते हुए अपनी मांग उनके सामने रखी। जिस पर कमांडेंट आफिसर ने उनकी समस्या तत्काल समाधान किये जाने का आश्वासन दिया। इस मौके पर तलवाड़ी की ग्राम प्रधान दीपा देवी, इंद्र सिंह फस्र्वाण, महिपाल सिंह, खिलाप सिंह, कमला देवी, लक्ष्मी देवी, पवन सिंह, पूर्व सुबेदार रंजीत सिंह, महिपाल सिंह, भरत सिंह, कुंदन सिंह बोरा आदि मौजूद थे।