*** उत्तराखंड विकास पार्टी ने गैरसैण को राजधानी बनाने के लिए चलाया अभियान, #उत्तराखंड_की_राजधानी_गैरसैण *** *** उत्तराखंड की राजधानी बने गैरसैण - उत्तराखंड विकास पार्टी *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

महिला दिवस विशेष : गरीब बच्चों को पढ़ा कर काबिल बना रही है प्रेरणा रावत

07-03-2020 16:52:38 By: एडमिन

कोटद्वार । समाज की मुख्यधारा से जुड़ने के लिए शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जो न केवल मूलभूत अधिकारों से रूबरू करवाती है बल्कि समाज में शान से जीने की राह भी दिखाती है । शिक्षा के इस उजियारे को सरकार घर घर पहुंचाने की कोशिश तो कर रही है लेकिन उसकी कोशिशें परवान नहीं चल रही है । लेकिन इसे समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो सरकार की इन कोशिशों को निस्वार्थ भाव से पंख देने का काम कर रहे हैं ।

 

इसी क्रम में कोटद्वार के पदमपुर निवासी प्रेरणा का गरीब और निर्धन परिवारों के बच्चों को शिक्षित कर समाज के मुख्य धारा से जोड़ने का ऐसा काम कर रही हैं जिसकी जितनी भी तारीफ की जाए उतनी ही कम है । अपने सीमित संसाधनों के बल पर प्रेरणा रावत ऐसे पचास गरीब बच्चों को शिक्षित कर उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के काम में लगी हैं जो झुग्गी झोपडिय़ों व नदियों में काम करने वाले परिवारों से ताल्लुक रखते हैं ।

 

झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले बच्चों को कर रहीं साक्षर

वह झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले बच्चों को भी पढ़ा रही हैं। इन बच्चों को प्राथमिक जानकारी देने के बाद इन्हें सरकारी स्कूल में आगे की पढ़ाई के लिए दाखिला भी दिला रही हैं। पिछले सत्र में प्रेरणा रावत ने करीब 20 बच्चों का दाखिला कराया। इस समय झुग्गी-झोपड़ी के करीब 60 बच्चों को अपने पास पढ़ाने का काम कर रही हैं।